कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने कहा कांग्रेस सरकार में प्रतिदिन सीएम को जिला गठन को लेकर पत्र लिखने वाले आज हैं केंद्रीय मंत्री,साथ में डबल इंजन सरकार,अब जिलों के गठन में अड़चन कैसी?

ख़बर शेयर करें -

रानीखेतः कांग्रेस के नव नियुक्त प्रदेशाध्यक्ष करन माहरा ने कहा है कि कांग्रेस आलाकमान ने उनपर भरोसा जताते हुए राज्य में पार्टी कैडर को मजबूत करने का दायित्व उन्हें सौंपा है,छह माह से एक साल के बीच राज्य में कांग्रेस मजबूती स्थिति में दिखाई देगी,ऐसा मेरा प्रयास है।उन्होंने केंद्रीय राज्य मंत्री अजय भट्ट और निशाना साधने हुए कहा कि कांग्रेस सरकार के वक्त वे जिला निर्माण को लेकर हर रोज एक पत्र सीएम को लिखते थे अब जबकि भाजपा की डबल इंजन सरकार है नए जिलों के निर्माण में कोई अड़चन नहीं होनी चाहिए।


कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष करन माहरा ने यहां अपने स्प्रिंग फिल्ड स्थित आवास पर पत्रकार वार्ता करते हुए यह बात कही।श्री माहरा ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस कैडर को तैयार करने के लिए आलाकमान ने भरोसा जाते हुए उन्हें प्रदेश अध्यक्ष का दायित्व सौंपा है।इस भरोसे को कायम रखते हुए मैं कार्यकर्ता के मनोबल को गिरने नहीं देंगे और कार्यकर्ताओं में नई स्फूर्ति और जोश भरने का काम करूंगा।श्री माहरा ने कांग्रेस कैडर को हमेशा से मजबूत बताते हुए कहा कि ऐसी प्रतिकूल परिस्थितियों में जब सत्ता द्वारा दो हजार रुपए लोगों के खाते में डाले जा रहे हों,मुफ्त राशन बांटा जा रहा हो,अनर्गल बयानबाजी के जरिए झूठ परोस कर नुकसान किया जा रहा हो,कांग्रेस का राज्य में 36 फीसदी वोट लाना इस सच्चाई को सामने लाता है कि कांग्रेस कमजोर नहीं पडी़ है। आज जरूरत कांग्रेस को राज्य में नई दिशा व धार देने की और कार्यकर्ताओं को इज्जत देने की है। जिसके लिए वे प्रयास करेंगे, आप को 6 माह से 1 साल के बीच कांग्रेस सशक्त स्थिति में दिखाई देगी।

यह भी पढ़ें 👉  झलोडी़ में स्वच्छता अभियान के तहत निकाली रैली, दिया स्वच्छता की अनिवार्यता व महत्ता का संदेश


कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने नए जिलों के सवाल पर भाजपा को घेरते हुए कहा जब राज्य में कांग्रेस की सरकार थी तब अजय भट्ट जी रानीखेत जिले के गठन को लेकर मुख्यमंत्री को रोज एक पत्र लिखते थे,आज वे केन्द्र सरकार में रक्षा व पर्यटन राज्य मंत्री हैं साथ ही डबल इंजन की सरकार है, ऐसे में अब जिला निर्माण में अड़चन नहीं आनी चाहिए,अब पूर्व घोषित चार ही नहीं,दो चार जिले और भी बनाए जा सकते हैं जिससे जनता की परेशानियां देर हो सकें।

यह भी पढ़ें 👉  विधायक डॉ नैनवाल ने ताड़ीखेत में पशुपालन विभाग की 1962 मोबाइल वेटनरी यूनिट का किया शुभारंभ, लाभार्थियों को बांटे कुक्कुट पालन किट,सीएम विवेकाधीन कोष के चेक


श्री माहरा ने कहा कि सड़कें हमारी जीवन रेखा हैं लेकिन राज्य में सड़कों की बहाली दुर्भाग्यपूर्ण है।जो सड़कें नौ मा। पहले आपदा में टूटी थीं वे यथा स्थित हैं।ऐसे में पर्यटक भी पहाड़ आने से तौबा कर रहा है जिसका असर पर्यटन व्यवसाय पर पड़ रहा है,सरकार को सड़कों को दुरूस्त करने की ओर ध्यान देना चाहिए।
कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष करन माहरा ने राज्य में हो रही बिजली कटौती पर कहा कि इसका सीधा असर इनदिनों परीक्षा दे रहे विद्यार्थियों और पहाड़ की पम्पिंग आधारित पेयजल व्यवस्था पर पड़ रहा है।मुख्यमंत्री कहते हैं हमने दस करोड़ की बिजली खरीदी है,लेकिन उन्हें समझता होगा वे राज्य के विद्युत उपभोक्ताओं को मुफ्त बिजली नहीं दे रहे।अभी मुख्यमंत्री ने अपने चयनित उप चुनाव क्षेत्र में आठ घोषणाएं की है,इसतरह की लोकलुभावन घोषणाओं का खामियाजा राज्य को भुगतना होगा।
श्री माहरा इन दिनों चर्चा के केन्द्र में आए राजकीय उद्यान निदेशालय चौबटिया पर भी बोले।उन्होंने कहा कि पं.जी बी पंत ने दूरदर्शी सोच के साथ यहां उद्यान विभाग स्थापित किया था लेकिन अब हालात यह हैं कि यहां निदेशालय में निदेशक के न बैठने से पूरी व्यवस्था पंगु बनी हैऔर किसानों, नौजवानों को इस निदेशालय का लाभ नहीं मिल पा रहा।निदेशक को देहरादून का मोह छोड़कर कम से कम माह में 15 दिन यहां बैठना चाहिए।उन्होंने इस मुद्दे पर किसानों को साथ लेकर संघर्षरत दीपक करगेती की सराहना करते हुए उनके संघर्ष को अपना समर्थन दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *