कांग्रेस जिलाध्यक्ष नारायण रावत ने स्व गोविंद सिंह माहरा को दी भावपूर्ण श्रद्धांजलि,कहा- स्पष्टवादिता और जन समर्पण उनसे सीखा जाना चाहिए

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत: कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के पिता पूर्व राज्य मंत्री गोविंद सिंह माहरा की जयंती पर कांग्रेस जिलाध्यक्ष नारायण सिंह रावत ने भी भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी है।

यहां जारी बयान में कांग्रेस जिलाध्यक्ष नारायण सिंह रावत ने स्व गोविंद सिंह माहरा को जन समर्पित नेता बताते हुए कहा कि‌ जननेता गोविंद सिंह माहरा तत्कालीन वृहद रानीखेत विधान सभा के चर्चित नायक रहे जिन्होंने पृथक राज्य की मांग को‌ पुरजोर ढंग से उठाया।वे 1967के‌ विधान ‌सभा चुनाव में कद्दावर नेता के रुप में अपनी छवि बनाने में तब सफल रहे जब उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रभान गुप्त के खिलाफ पृथक पर्वतीय राज्य संगठन से चुनाव लड़कर आम चुनाव को खास‌ बना दिया ,इस चुनाव में पर्वतीय राज्य की मांग ने जोर पकड़ा। इस कडे़ मुकाबले के कारण स्व माहरा के साथ रानीखेत भी राष्ट्रीय सुर्खियों में रहा। क्षेत्रीय नेता होने के कारण जन समर्थन स्व माहरा के साथ था।इसी तरह 1969 चुनाव में भी उन्होंने कड़ी टक्कर दी। 1977में चुनाव जीत कर वे उप्र विधानसभा पहुंचे और वन राज्य मंत्री बने। 1988 में नारायण दत्त तिवारी सरकार में पर्वतीय विकास परिषद के उपाध्यक्ष रहे।

यह भी पढ़ें 👉  विवेकानंद तपोस्थली काकड़ीघाट में आयुर्वेदिक एवं यूनानी सेवाएं उत्तराखंड के संयोजन ‌में हुआ योगा लाइव स्ट्रीमिंग कार्यक्रम,योगा साधकों ने किया योगाभ्यास

कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने स्व गोविंद सिंह माहरा का भावपूर्ण स्मरण करते हुए कहा कि राजनीति में स्पष्टवादिता,और जन समर्पण स्व माहरा से सीखा जाना चाहिए। वे पहाड़ के राजनीतिक फलक पर एक बड़ा नाम थे।

यह भी पढ़ें 👉  क्षेत्रीय आयुर्वेदीय अनुसंधान संस्थान, रानीखेत द्वारा विश्व रक्तदाता दिवस पर किया रक्तदान शिविर का आयोजन साथ ही भविष्य में रक्तदान की शपथ ली