जी•डी • बिरला मैमोरियल स्कूल रानीखेत में शुरू हुआ दो‌ दिवसीय साहित्यिक,दृश्य एवं कला प्रदर्शन उत्सव-2022

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत: आज जी•डी • बिरला मैमोरियल स्कूल रानीखेत में दो दिवसीय साहित्यिक,दृश्य एवं कला प्रदर्शन उत्सव-2022 “परम्परा” का शुभारम्भ हुआ। कार्यक्रम में 15 विद्यालय प्रतिभाग कर रहे‌ हैं।

 उत्सव के पहले दिन विद्यालय में बीट धमाका (ऑर्केस्ट्रा) पैनोरमा (प्रकृति परिदृश्य पेंटिंग) मोंटेज (प्रकृति फोटोग्राफी) एक क्लिप लाइव कमेंट्री, मुखाकृति मूक अभिनय,'प्रबोधन' नुक्कड़ नाटक प्रतियोगिताएं आयोजित की गई। जिनमें प्रतिभागी विद्यालयों के विद्यार्थियों ने अपनी प्रतिभा का भरपूर प्रदर्शन किया। इससे पूर्व विद्यालय के वरिष्ठ प्रधानाचार्य मोहम्मद आसिम अली ने मुख्य अतिथि सेवानिवृत्त कर्नल जी॰ एस॰ बिष्ट की अगवानी की। श्री बिष्ट ने दीप प्रज्ज्वलित कर उत्सव का शुभारम्भ किया।

 इस अवसर पर पूर्व प्रोफेसर डाॅ॰ अनिल जोशी,वरिष्ठ रंगकर्मी व साहित्य कर्मी विमल सती,डाॅ॰ प्रोमिल पाण्डे,महाविद्यालय की डाॅ॰ निधि पाण्डे, श्रीमती शुचिष्मिता दत्ता, श्रीमती शीलू जोशी निर्णायक मंडल में शामिल रहे। निर्णायक दल के समस्त सदस्य विभिन्न क्षेत्रों में विशिष्टता प्राप्त हैं। 

उत्सव में आर्यमान विक्रम बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ लर्निंग, अशोक हाल गर्ल्स रेजीडेंशियल स्कूल मजखाली, एल एस एस कोलकाता, बी जी एम कोलकाता, आई एम एस एस बसंत नगर, वीवीवी सेडम, टीआई टी भिवानी, बीयरशिवा रानीखेत, कनौसा काॅन्वेंट रानीखेत , एपीएस रानीखेत , जेएनवी ताङीखेत, केपीएस एचपीएस ताङीखेत, केपीएस द्वाराहाट , जीडी गोयनका स्कूल व जी॰ डी॰ बिरला मैमोरियल स्कूल रानीखेत भाग ले रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  स्वर्गपुरी पांडवखोली आश्रम में सीज़न का पहला हिमपात, पर्वतीय क्षेत्रों में बारिश, हिमपात के साथ कडा़के की ठंड

नई शिक्षा नीति के अनुसार छात्रों में रचनात्मक सोच, तार्किक निर्णय और नवाचार की भावना को प्रोत्साहित करने के लिए विद्यालय ने यह पहल की है। गतिविधियों पर आधारित शिक्षा बच्चों के मानसिक व शारीरिक विकास के लिए अनिवार्य है। इसी सोच के तहत विद्यालय में इस साहित्यिक उत्सव का आयोजन किया गया है। विद्यालय के वरिष्ठ प्रधानाचार्य मोहम्मद आसिम अली ने बताया कि अशोक हाॅल ग्रुप ऑफ स्कूल्स ने सदा ही प्रयास किया है कि हम अपने बच्चों को पुस्तकीय ज्ञान के साथ बौद्धिक विकास के अनेक व विभिन्न अवसर प्रदान कर सकें। “परम्परा” भी उसी दिशा में उठाया गया एक सफलतम प्रयास है। ज्ञात हो कि विद्यालय में चल रहा दो दिवसीय साहित्यिक,दृश्य एवं कला प्रदर्शन उत्सव-2022 को “परम्परा ” शीर्षक के अन्तर्गत मंचित किया गया है। उन्होंने बताया कि बाहर प्रदेशों से आए हुए सात विद्यालय जी॰डी॰ बिरला मैमोरियल स्कूल में ही ठहरे हुए हैं। उनके इस प्रवास के दौरान हमारे विद्यार्थियों को विभिन्न संस्कृतियों की जानकारी व एक-दूसरे के साथ तालमेल बैठाने की कला, मिल बाँट कर खाना खिलाना आदि की व्यवहार कुशलता व काफी कुछ सीखने को मिल रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  बाबा के वेश में अवैध चरस की तस्करी कर रहे दो व्यक्तियों को पुलिस ने कैंची के समीप एक किलो चरस के साथ किया गिरफ्तार

इस मौके पर अशोक हाॅल ग्रुप ऑफ हिल्स स्कूल के निर्देशक श्री पिन्दरजीत सिंह चीमा, अशोक हाॅल रेजीडेंशियल स्कूल मजखाली के प्रधानाचार्य श्री हेमंत राय, आर्यमान विक्रम बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ लर्निंग की प्राचार्या श्रीमती वंदना टम्टा व श्रीमती सुबुही अली मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  सिंगल यूज प्लास्टिक के नाम पर प्रशासन कर रहा व्यापारियों को प्रताड़ित, व्यापार मंडल की भूमिका संदिग्ध: हर्ष वर्धन पंत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *