रानीखेत में भव्य डोला यात्रा के साथ‌ नम आंखों से की गई मां नंदा-सुनंदा की‌ विदाई, भव्य सांस्कृतिक यात्रा निकली

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत:रानीखेत में आज मां नंदा -सुनंदा की भव्य डोला यात्रा के साथ नगर के ऐतिहासिक 133वें नंदा देवी महोत्सव का समापन हो गया।

प्रात: नित्य पूजा के बाद जरूरी बाजार स्थित नंदा देवी मंदिर से भजन कीर्तन और नगाड़े-निशान के साथ मां नंदा-सुनंदा का भव्य डोला शुरू हुआ। नंदा-सुनंदा के जयकारों और भजनों से माहौल भक्तिमय हो उठा। बेटी-बहन रूपा नंदा-सुनंदा के दर्शनों और विदा करने के लिए समूचा क्षेत्र रानीखेत पहुंचा था। जगह-जगह आरती हुई और श्रद्धालुओं ने पुष्प-अक्षत की वर्षा कर लोक में रची-बसी आराध्य देवी को नम आंखों से विदाई दी।

यह भी पढ़ें 👉  बीर शिवा स्कूल चौखुटिया में पुलिस ने विद्यार्थियों को किया साइबर क्राइम के प्रति जागरूक

सांस्कृतिक शोभायात्रा में स्कूली बच्चों का उत्साह भी देखने लायक रहा। बच्चे पूरे उत्साह से रंगारंग प्रस्तुति देने के साथ मां नंदा-सुनंदा के जयकारे लगाते हुए चल रहे थे।डोले के साथ निकली भव्य सांस्कृतिक शोभायात्रा में स्कूली बच्चों ने जहां नंदा-सुनंदा की स्तुति से माहौल में भक्तिरस घोल दिया, वहीं धार्मिक आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति के जरिए पर्वतीय अंचल की समृद्ध लोक संस्कृति भी जीवंत हो उठी।

यह भी पढ़ें 👉  रानीखेत नगर के सौंदर्यीकरण के लिए व्यापार मंडल‌ चयनित स्थानों पर सेल्फी पॉइंट बनाएगा, छावनी परिषद सीईओ से मांगी अनापत्ति

शोभायात्रा में लोकगीतों व नृत्य की धूम मची रही। ग्राम सभा खनिया और बीएसएनएल कालोनी की‌महिला झोड़ा टीमों ने शोभायात्रा का आकर्षण बढ़ाया। यात्रा में नगर के विभिन्न स्कूलों ने प्रतिभाग किया। द्यूलीखेत, रोडवेज स्टेशन, सदर बाजार, गांधी चौक, विजय चौक होते हुए डोला वापस नंदा देवी मंदिर पहुंचा। जिसके बाद विसर्जन यात्रा कालू गधेरा पहुंची, जहां विधिवत मूर्तियों का विसर्जन किया गया।

कार्यक्रम में यजमान लक्ष्मण सिंह बिष्ट नंदा देवी समिति अध्यक्ष हरीश साह, सांस्कृतिक संयोजक विमल सती विधायक प्रमोद नैनवाल, महिला आयोग उपाध्यक्ष ज्योति साह मिश्रा, क्षेत्र प्रमुख हीरा रावत, एलएम चंद्रा, किरन साह,भुवन साह,भुवन सती ,मोहिल साह ,दीपक पंत, पंकज साह, कैलाश पांडे, सतीश पांडे, मुकेश साह, अंशुल साह गंगोला , यतीश रौतेला, बिंदु रौतेला, नेहा साह माहरा, पुरोहित विपिन पंत, प्रमोद कांडपाल, विनोद कांडपाल, रामेश्वर गोयल, धीरज अग्रवाल , गौरव भट्ट, उमेश भट्ट, सोनू सिद्दीकी, हेमंत मेहरा,अभिषेक कांडपाल, परम मेहरा, जयंत रौतेला, अनिल वर्मा, सहित तमाम लोग मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  कविवर सुमित्रानंदन पंत की 124वीं जयंती उनके पैतृक गांव में समारोह पूर्वक मनाई गई, काव्य गोष्ठी आयोजित, साहित्यकार हुए सम्मानित