रानीखेत में व्यापार मंडल बाहरी व्यक्तियों को दीवाली में नहीं लगाने देगा फड़ बाजार,प्रशासन ने अनुमति दी तो होगा आंदोलन

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत: व्यापार मंडल ने त्योहारी सीजन में बाहरी फड़ व्यापारियों को बाजार में व्यापार करने की अनुमति नहीं देने का निर्णय लिया है। कहा कि यदि प्रशासन की तरफ से अनुमति दी गई तो उग्र आंदोलन शुरू ‌कर दिया जाएगा हालांकि सिर्फ मिट्टी की मूर्तियाँ, दीयों, बच्चो के गुब्बारे , फूल माला, खिलौने के व्यापारियों को अनुमति देने की सहमति बनी ताकि त्योहारी मेले की रौनक व भव्यता बनी रहे। तय हुआ कि दीपावली पर्व पर सोमवार को साप्ताहिक बंदी नहीं होगी। व्यापारियों से अपनी दुकानों के आगे बाहरी फड़ व्यापारी को नहीं बैठने देने की अपील की गई।

यह भी पढ़ें 👉  भूतपूर्व सैनिकों ने जैनोली तक निकाली तिरंगा रैली, स्वतंत्रता दिवस धूमधाम से मनाने का‌ निर्णय

व्यापार मंडल की यहां हुई बैठक में वक्ताओं ने कहा कि कोरोनाकाल में सबसे अधिक नुकसान व्यापारियों को हुआ है। शासन प्रशासन की तरफ से किसी भी तरह की मदद तक नहीं मिली। त्योहारी सीजन शुरू हो गया है। ऐसे में बाहर से फड़ व्यवसायी आकर व्यापार प्रभावित कर देते हैं। बाहरी व्यक्तियों को बाजार नहीं लगाने देने का निर्णय लिया गया हालांकिसिर्फ मिट्टी की मूर्तियाँ, दीयों, बच्चो के गुब्बारे , फूल माला, खिलौने के व्यापारियों को अनुमति देने की सहमति बनी ताकि त्योहारी मेले की रौनक व भव्यता बनी रहे। तथा व्यापारियों से अनुरोध भी किया की अपनी दुकानों के आगे किसी बाहरी फड़ व्यापारी का नहीं बैठने दें। कहा कि त्योहारी सीजन में व्यवसाय होने की आशा है यह उम्मीद हर व्यापारी और उससे जुड़ा हर परिवार कर रहा है। ऐसे में अगर बाहरी व्यक्तियों द्वारा शहर में कोई भी फड़ या बाजार लगाने की कोशिश की गई तो व्यापार मंडल और समस्त व्यापारी उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। शासन प्रशासन से भी बाहरी व्यापारियों को व्यापार की अनुमति नहीं देने की अपील की गई। बैठक में अध्यक्ष मनीष चौधरी, उपाध्यक्ष दीपक पंत, महामंत्री संदीप गोयल, उपसचिव विनीत चौरसिया, कोषाध्यक्ष भुवन पांडेय और महिला उपाध्यक्ष नेहा माहरा मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.