चुनाव बहिष्कार पर अड़े रानीखेत विकास संघर्ष समिति के सदस्यों के साथ संयुक्त मजिस्ट्रेट ने की वार्ता, रानीखेत के पर्यटन विकास के लिए जताई प्रतिबद्धता

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत– छावनी परिषद के नागरिक क्षेत्र को नगर पालिका में शामिल करने की मांग सहित रानीखेत के विकास को लेकर लोक सभा चुनाव के बहिष्कार पर अड़े रानीखेत विकास संघर्ष समिति के सदस्यों से आज संयुक्त मजिस्ट्रेट ने वार्ता कर रानीखेत के विकास के लिए प्रयासरत रहने की बात कही।

संयुक्त मजिस्ट्रेट वरूणा अग्रवाल ने चुनाव बहिष्कार पर अड़े रानीखेत विकास संघर्ष समिति के सदस्यों से तहसील कांफ्रेंस कक्ष में मुलाकात कर रानीखेत के विकास के प्रति प्रयासरत रहने की बात कही। उन्होंने कहा कि छावनी सिविल एरिया को राज्य निकायों को क्रमबद्ध रूप में सौंपने का कार्य केंद्र की ओर से किया जा रहा है, पांच छावनियां गत महीनों में नगर पालिका बनाई जा चुकी हैं भविष्य में यह क्रम जारी रहेगा ऐसी उम्मीद है। उन्होंने रानीखेत के पर्यटन विकास के लिए भी अपनी प्रतिबद्धता जताई; कहा कि आशियाना पार्क के आपदा में ढहे हिस्से का निर्माण कार्य एकमुश्त बजट न मिलने से अलग-अलग फेज में किया जाएगा। कहा कि प्रसिद्ध गोल्फ़ ग्राउंड को ग्रीष्मकाल में शाम के वक्त भी खुलवाने का प्रयास रहेगा,इस हेतु सेनाधिकारियों से वार्ता की जाएगी। उन्होंने बताया कि सेवन स्टोन के विकास के भी प्रयास किए जाएंगे साथ ही पैराग्लाइडिंग भी शुरू कराई जाएगी जिससे अधिकाधिक पर्यटक रानीखेत की ओर आकर्षित हो सकें। संयुक्त मजिस्ट्रेट ने कहा कि भवन कर के मामले में जलकर लिए जाने के बारे में में वे छावनी परिषद से बातचीत करेंगी इसके अलावा अन्य छावनियों में इस बावत क्या स्थिति है जानकारी मंगाई जाएगी। उन्होंने समिति के सदस्यों से कहा कि चुनाव बहिष्कार किसी बात का समाधान नहीं है। उन्होंने निर्वाचन कार्यों की व्यस्तता से निपटने के बाद चुनाव बाद शीघ्र रानीखेत की समस्याओं को जानने और पर्यटन विकास के लिए और क्या कर सकते हैं इसके लिए नागरिकों के साथ पुनः बैठक की जाएगी।

यह भी पढ़ें 👉  प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल‌ की जिला इकाई की बैठक में उठी व्यापारिक व क्षेत्रीय समस्याएं, व्यापारियों की एकजुटता पर बल

बैठक में संयुक्त मजिस्ट्रेट, तहसीलदार के अलावा रानीखेत विकास संघर्ष समिति के कैलाश पांडे, गिरीश भगत,अगस्त लाल साह,दीप भगत, किरन लाल साह, खजान पांडे, हरीश मैनाली, डॉ चारू पंत,अनिल वर्मा,बसंत कुमार, मुकेश साह,अशोक पाण्डे, दीपक गर्ग, चंद्र शेखर गुरूरानी, दीपक साह,सोनू सिद्दीकी आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल‌ की जिला इकाई की बैठक में उठी व्यापारिक व क्षेत्रीय समस्याएं, व्यापारियों की एकजुटता पर बल