रापड़ में पत्रकार दबा, विशुवा में दो मकान खतरे में, आशियाना पार्क का हिस्सा मुख्य बाजार में गिरा

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत: पिछले दो दिन से लगातार हो रही बारिश से जगह-जगह से भारी नुकसान की खबरें आ रही हैं।भिकियासैंण तहसील के रापड़ गांव में जहां पत्रकार आनंद नेगी के मकान के मलबे में दबने से जहां पत्रकारिता से जुडे़ लोगों में शोक की लहर है वहीं कई जगह से भूस्खलन के समाचार हैं।विशुवा गांव में जमीन दरकने से मकानों को खतरा उत्पन्न हो गया है वहीं रानीखेत आशियाना पार्क का एक हिस्सा ही दरक कर मुख्य बाजार में आ गया है।
भिकियासैंण तहसील के रापड़ गांव में अमर उजाला के पत्रकार रह चुके आनंद नेगी ,उनकी पत्नी, भतीजा एवं भतीजी मकान के मलबे में दब गए।पत्नी ऊषा को रेस्क्यू टीम ने मलबे से निकाला।दोनों बच्चों के भी मलबे से आज सुबह शव बरामद हुए।वरिष्ठ पत्रकार आनंद नेगी के आपदा का शिकार होने से पत्रकारिता से जुडे़ लोगों में शोक की लहर है।
इधर ताडी़खेत विकास खंड के तल्ला विशुवा गांव में जमीन दरकने से दो मकान खतरे की जद में हैं।दर असल हरीश चंद्र जोशी और हेम चंद्र जोशी के मकानों से 10/15 मीटर दूरी पर जमीन दरक रही है जिसकारण 10/12पेड़ भी गिर चुके हैं दरकती जमीन कभी भी मकानों को अपनी चपेट में ले सकती है। रानीखेत नगर में लगातार बारिश के चलते छावनी परिषद के आशियाना पार्क का एक हिस्सा भरभरा कर मुख्य सदर बाजार में आ गिरा। सीढी़ मार्ग की दीवार गिरने से शर्मा कंपाउंड के निवासियों के लिए भी आवाजाही में दिक्कत आ रही है।

यह भी पढ़ें 👉  CARE' संस्था द्वारा हिमांशु पाठक व कमल गोस्वामी को 'फोटोग्राफर ऑफ रानीखेत' सम्मान के लिए चुना गया, शीघ्र किया जाएगा सम्मान
आशियाना पार्क की दीवार
तल्ला विशुवा गांव में दरक रही जमीन, मकानों को खतरा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *