रानीखेत में शास्त्रीय एवं लोक संगीत कार्यशाला का शुभारंभ, प्रशिक्षणार्थियो ने दी गीत-संगीत की सुंदर प्रस्तुतियां

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत: ‌विगत वर्ष की भांति सरस्वती उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में इस वर्ष भी रानीखेत क्षेत्र में शास्त्रीय संगीत व लोक संगीत की कार्यशाला प्रारम्भ की गई जिसका औपचारिक उद्घाटन नगर के वरिष्ठ नागरिक श्री कैलाश पांडेय कार्यशाला के संरक्षक सहयोगी रंगकर्मी श्री विमल सती,अध्यापक श्री दीप पांडेय व कार्यशाला की निर्देशिका संगीत शिक्षिका रा.आ.बा.इ.का. रानीखेत श्रीमती मीनाक्षी उप्रेती जोशी द्वारा सामूहिक रूप से दीप प्रज्वलित कर किया गया ।

प्रशिक्षणार्थियों द्वारा सरस्वती वन्दना,स्वागत गीत के माध्यम से अतिथियों का स्वागत किया अतिथि कलाकार मास्टर उत्कर्ष उप्रेती द्वारा राग भूपाली में गणेश स्तुति जय गणपति गज वदन विनायक की सुंदर प्रस्तुति दी, राग काफी में कु.तानिया उपाध्याय. कु. साक्षी,कु.कोमल बिष्ट द्वारा सामूहिक रूप से छोटा ख्याल में प्रभू तेरी दया है अपार की प्रस्तुति दी ।पूर्व वर्ष की सबसे कर्मठ व सक्रिय छात्रा कु.रश्मि भारती द्वारा राग शुद्ध कल्याण में बङा ख्याल में बोलन लागी पपीहा व छोटे ख्याल में एक घरी पल जिया मानत नाही मोरा में आलाप, तानों सहित सुंदर बन्दिश प्रस्तुत की, कु.हृदयांशी जोशी ने राग यमन में पिया की नजरिया जादू भरी में छोटा ख्याल की मनमोहक प्रस्तुति दी ,कु.साक्षी द्वारा लोकगीत के अन्तर्गत मांगलिक गीत सांझ पाई संध्या वारी में दीप प्रज्वलन गीत गाया ,कु.गरिमा कश्यप व कशिश द्वारा बेटियां तो लम्हा खुशी का प्रस्तुत किया।
आर्मी सेवानिवृत्त मन संगीत के श्री संजय लुंंठी ने एक देश भक्ति गीत के साथ प्रशिक्षणार्थियो को बताया कि संगीत के प्रारंभिक ज्ञान से होने वाले लाभ जो हमारे जीवन के हर क्षेत्र को प्रफुल्लित करने वाला है।
रंगकर्मी व पत्रकार श्री विमल सती द्वारा इस प्रकार की कार्यशाला को समाज के लिए बहुत ही प्रभावशाली बताया जो समाज में जीवन्तता प्रदान करती है इसके लिए प्रशिक्षणार्थियो, अभिभावकों तथा सभी क्षेत्र समूह से इसका भरपूर लाभ लेने को प्रेरित किया साथ ही संगीत प्रशिक्षण के लिए संगीत शिक्षिका श्रीमती मीनाक्षी उप्रेती जोशी का आभार व्यक्त किया।
संगीत कार्यशाला निर्देशिका श्रीमती मीनाक्षी उप्रेती ने शास्त्रीय संगीत के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए उसके महत्व को बताया साथ ही सरस्वती उच्चतर माध्यमिक विद्यालय रानीखेत के प्रधानाचार्य श्री रेखाङी, श्री दीप भगत संरक्षक विद्यालय तथा सभी उपस्थित लोगो को साधुवाद दिया संचालन श्रीमती सरिता राणा द्वारा किया।

यह भी पढ़ें 👉  रानीखेत किताब कौतिक में साहित्य व कला जगत की नामचीन हस्तियों ने शामिल होने की हामी भरी, तैयारियों पर चर्चा को लेकर हुई बैठक