जानें हरीश रावत ने किसको कहा फसकी बाज और टर्की बाज,जो थोडा़ कुमाउनी-गढ़वाली बोलकर 2017में जनता को झांसा दे गया

ख़बर शेयर करें -

देहरादून:-कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तराखंड में कांग्रेस के चुनाव संचालन समिति के चेयरमैन हरीश रावत ने यहां पत्रकार वार्ता में भाजपा पर जमकर प्रहार किए और अपने नेतृत्व वाली पूर्व सरकार की उपलब्धियों का भी बखान किया। रावत मोदी लहर के चलते सत्ता वापसी न करने की टीस छिपा नहीं पाए बोले, 2017 में एक फुशकी बाज-टर्कीबाज़ आया था जिसने थोड़ी गढ़वाली,थोड़ी कुमाउँनी बोलकर उत्तराखंड के लोगों को बहकाया लेकिन अब वह ऐसा नहीं होने देंगे और आवाज उठाएंगे।उन्होने कहा कि अब हर अभियान की शुरुआत श्रीगणेश से होगी ।रावत का इशारा साथ में बैठे गणेश गोदियाल की ओर था।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि 03 सितंबर को खटीमा से कांग्रेस परिवर्तन यात्रा अभियान की शुरुआत करेगी। कहा हमारा विरोध सरकार की दमनकारी नीतियों को लेकर है।हमारा उद्देश्य उत्तराखंड के सम्मान को वापस लाना और हमारी प्राथमिकता आर्थिक रुप से सक्षम उत्तराखंड बनाना है,शिक्षा और चिकित्सा सुविधाओं को बढा़ए बिना सक्षम उत्तराखंड की कल्पना नहीं की जा सकती।पिछले साढ़े चार साल में शिक्षा और चिकित्सा के सुधार को मौजूदा सरकार ने हाशिए में डाल दिया। वही बेरोजगारी का आलम यह है कि बिना काम के नौजवानों में असंतोष व्याप्त हो रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  जी डी बिरला मैमोरियल स्कूल में धूमधाम से मना दशहरा, भव्य कार्यक्रम के बीच रावण का पुतला जलाया गया

हरीश रावत ने कहा कि अगले दो तीन दिनों में सभी का ब्लू प्रिंट लेकर सामने आऊंगा।बिना तथ्यों के कोई बात नहीं होनी चाहिए।उन्होंने कहा कि मेरी कही बात कोई चुनावी नारा नहीं है,सभी बातों के लिए व्यापक तैयारी है।रावत ने दावा किया कि अपनी सरकार में उन्होंने ऊर्जा क्षेत्र में व्यापक सुधार किए।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि 2022 में हमारी सरकार आते ही सगुन के तौर पर राज्य की प्रत्येक बहन कोे रसोई गैस में सब्सिडी दी जाएगी। मेरा रिकार्ड तो सभी को मालूम है अपनी सरकार में 18तरह की पेंशन हमने लागू की थी।
उन्होंने राज्य में बेरोजगारी पर कहा कि राज्य में मूल अधिकार की तभी रक्षा होगी जब उसके पेट की रक्षा होगी।

यह भी पढ़ें 👉  जी डी बिरला मैमोरियल स्कूल में धूमधाम से मना दशहरा, भव्य कार्यक्रम के बीच रावण का पुतला जलाया गया

रावत बोले,जब सरकार में आया तब राज्य बर्बाद हो चुका था, मैने उसको संभालने का किया काम किया।भाजपा पर आरोप लगाते कहा कि भाजपा सरकार ने कई योजनाओं में कटौती की है।पिछली सभी योजनाओं को दोबारा से लागू करना हमारे अभियान का बड़ा फैसला होगा।

रावत ने यह भी कहा कि लोग मुझे हरिद्वारी लाल बताते है अब मैं गन्ना और मंडुवा लेकर हरिद्वार की परिक्रमा करूंगा। उन्होने कहा कि 20 परिवर्तन सेवकों को तैयार किया जाएगा।परिवर्तन सेवकों की टीम को मैं खुद तैयार करूंगा। जिनकी तैनाती राज्यभर में की जाएगी।
रावत ने कहा उन्होने 54 साल राज्य की सेवा में बीता दिए। परिवर्तन यात्रा के बाद मोरी से मुनस्यारी, टनकपुर से खानपुर तक जनता से सीधा संवाद करूंगा जनता से पूछूंगा 2017 में आखिर मेरी क्या गलती रही।
हरीश रावत ने भाजपा के हिंदुत्व पर कटाक्ष करते कहा कि भाजपा सर्वधर्म झगड़ा भाव में विश्वास रखती है हिंदुत्व की बात करने वालों ने हिंदू से तत्व को निकाल फेंका है।
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि वे “टूरिस्ट” के हाथों अब उत्तराखंडियत को हाईजैक नहीं होने देंगे ।दर असल टूरिस्ट से उनका आशय मोदी -शाह से था ।इस लाइन से साफ हो गया कि रावत अगला चुनाव बतर्ज ममता बनर्जी स्थानीयता बनाम बाहरी को मुद्दा बनाकर लड़कर मैदान जीतना चाहते हैं ममता ने भी मोदी शाह को बाहरी साबित किया था अब रावत उन्हें टूरिस्ट बता उत्तराखंडित का अलम उठाकर भाजपा को मैदान से आउट करने की जुगत में हैं।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.