रानीखेत में संपन्‍न हुई मिनी मैराथन, 220 से अधिक प्रतिभागियों ने दौड़ में हिस्‍सा लिया, बुजुर्गों में 77वर्षीय प्रेम यदुवेंद्र और बच्चों में सात वर्षीय माइवा ने जीता खिताब

ख़बर शेयर करें -


शहर के ऐतिहासिक रानीखेत क्‍लब में पुरस्‍कार वितरण समारोह आयोजित
रानीखेतवासी 77 वर्षीय प्रेम यदुवेन्‍दु सबसे बुजुर्ग प्रतिभागी
07 साल की माइवा ने सबसे कम उम्र की मैराथन रनर का खिताब हासिल किया
इस मौके पर एसएसबी के बैंड ने राष्‍ट्रीय गान की धुन बजाकर जोश का संचार किया
संकल्‍प भी लिया गया

रानीखेत, 13 अगस्‍त, 2023: रानीखेत पर्वतारोहण एवं आउटडोर क्‍लब ने कुमाऊं रेजिमेंट सेंटर (केआरसी) और सीमा सशस्‍त्र बल (एसएसबी), रानीखेत तथा स्‍थानीय प्रशासन के सक्रिय सहयोग से आज यहां मानूसन मिनी मैराथन का सफल आयोजन किया। मानसूनी बादलों से पटे पड़े आसमान तले आज सवेरे सोमनाथ ग्राउंड से झंडी दिखाकर धावकों को रवाना किया गया। रानीखेत पर्वतारोहण एवं आउटडोर क्‍लब के प्रेसीडेंट श्री सुमित गोयल ने बताया, ”इस मिनी मैराथन के अंतर्गत कुल छह श्रेणियों में 220 से अधिक धावकों की उत्‍साही भागीदारी देखते ही बनती थी। जगह-जगह सड़कों पर उतर आए बादलों और कोहरे को चीरते हुए ये धावक बिना किसी की परवाह किए अपनी मंजिल की ओर बढ़ते रहे।”
केआरसी कमांडेंट बिग्रेडियर गौरव बग्‍गा ने अपने संबोधन में क्‍लब को मैराथन के आयोजन पर बधाई देते हुए कहा – ‘’मौजूदा दौर में खराब जीवनशैली के नुकसान से खुद को बचाकर रखने में इस प्रकार की शारीरिक गतिविधियां बेहद लाभप्रद साबित होती हैं। दौड़ना इस लिहाज़ से काफी फायदेमंद है कि यह आपको स्‍वस्‍थ रखने के साथ-साथ अपने खुद के साथ होने (मी टाइम) का समय भी देता है।”
सशस्‍त्र सीमा बल के महानिरीक्षक (आईजी) श्री अनिल कुमार ने उपस्थित प्रतिभागियों की हौंसलाअफ़ज़ाई की और रानीखेत पर्वतारोहण एवं आउटडोर क्‍लब को इस सफल आयोजन पर बधाई दी। साथ ही, उन्‍होंने भविष्‍य में इस प्रकार की गतिविधियों के लिए हर संभव सहयोग देने का भरोसा भी दिलाया। 77वें स्‍वतंत्रता दिवस के सिलसिले में, आईजी अनिल कुमार ने इस अवसर पर उपस्थित जनों को ‘मेरी माटी, मेरा देश’ अभियान से जुड़ने का संकल्‍प भी दिलाया।
क्‍लब द्वारा समय-समय पर आयोजित की जाने वाली एडवेंचर गतिविधियों में रानीखेत शहर के अलावा आसपास के अन्‍य कस्‍बों, नगरों और दूरदराज के शहरों से भी एडवेंचर प्रेमियों के भाग लेने का सिलसिला इस बार भी जारी रहा। अल्‍मोड़ा से कल शाम ही धावकों की एक टोली साइकिलों पर सवार होकर रानीखेत शहर पहुंच चुकी थी और रानीखेत के अलावा आसपास के अन्‍य कस्‍बों,गांवों से भी प्रतिभागियों ने दूरी या मौसम की परवाह किए बगैर दौड़ में हिस्‍सा लिया।
ये धावक कुल छह श्रेणियों – लेडीज़ एवं गर्ल्‍स, ओपन, अंडर 18 ब्‍वॉयज़, यंग सीनियर्स, सीनियर्स और प्रोफेशनल्‍स के अंतर्गत 5, 7 तथा 12 किलोमीटर के पूर्व निर्धारित रूट पर दौड़े। रानीखेत पर्वतारोहण एवं आउटडोर क्‍लब के पदाधिकारियों और स्‍वयंसेवियों को मैराथन के सुचारू तरीके से आयोजन के लिए स्‍थानीय प्रशासन के अलावा शहर में सैन्‍य एवं अर्ध सैन्‍य बलों तथा स्‍थानीय स्‍कूलों का सहयोग मिला।
शहर में स्थित ऐतिहासिक रानीखेत क्‍लब में मैराथन संपन्‍न हुई। क्‍लब की करीब डेढ़ सौ साल पुरानी ब्रिटिशकालीन इमारत में सशस्‍त्र सीमा बल के बैंड ने उत्‍साही धुनों को बजाकर सभी धावकों का ज़ोर-शोर से स्‍वागत किया। मैराथन विजेताओं को पुरस्‍कार तथा दौड़ सफलतापूर्वक पूरा करने वाले हरेक प्रतिभागी को प्रमाणपत्र प्रदान किए गए।

यह भी पढ़ें 👉  चुनाव ड्यूटी से लौट रहा टीचर सड़क हादसे का शिकार, अज्ञात वाहन की टक्कर से मौत

विजेताओं की सूची

अंडर 18 ब्‍वॉयज़
प्रथम – भूपेश सिंह (आर्मी पब्लिक स्‍कूल, रानीखेत)
द्वितीय – समीर सिंह (आर्मी पब्लिक स्‍कूल, रानीखेत)
तृतीय – अंकित एस बिष्‍ट

लेडीज़ एंड गर्ल्‍स
प्रथम – ज्‍योति फर्त्याल
द्वितीय – भावना रावत
तृतीय – चेतना रावत

19-40 आयुवर्ग (ओपन श्रेणी)
प्रथम – राघव शर्मा
द्वितीय – बसंत मेहरा
तृतीय – मनोज कुमार

यंग सीनियर्स (41-60 आयुवर्ग)
प्रथम – सुमित शाह
द्वितीय – नरेश चंद्र डोबरियाल
तृतीय – शंकर बिष्‍ट

सीनियर्स श्रेणी (60+आयुवर्ग)
प्रथम – महेंद्र सिंह भंडारी
द्वितीय – जे एस बिष्‍ट
तृतीय – गिरीश चंद्र सिंह बिष्‍ट

प्रोफेशनल्‍स श्रेणी
प्रथम – रोहित यादव, 7 कुमाऊं
द्वितीय – राहुल सिंह, 4 कुमाऊं
तृतीय – दीपक जोशी, 17 कुमाऊं