रानीखेत के पनयाली में यूपी से आई बंदर पकड़ टीम ने 39 बंदरों को पकड़ा, वन विभाग द्वारा रेस्क्यू सेंटर अल्मोड़ा भेजा गया

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत: वन विभाग अधिकारियों के निर्देशन में आज रानीखेत के पनयाली क्षेत्र में दहशत का पर्याय बने बंदरों को यूपी के मुरादाबाद से आई बंदर पकड़ने वाली टीम द्वारा पकड़ा गया।

बता दें कि पनयाली में पटवारी चौकी, टनवाल टैन्ट हाउस, पी डब्लू डी कालोनी व प्राइमरी स्कूल के आस- पास पिछले कई दिनों से लगातार कटाने बंदरों का आतंक बना हुआ था, बंदरों पर‌ स्कूली बच्चों पर झपटने की शिकायतें मिल रही थीं जिसकी सूचना द कैंट बोर्ड कर्मचारी महासंघ राष्ट्रीय महामंत्री एवं स्थानीय निवासी ईश्वर सिंह टनवाल द्वारा वन विभाग के उच्च अधिकारियों को लिखित व दूरभाष द्वारा देकर कटाने बंदरों से निजात दिलाने की मांग की गई थी। जिसका संज्ञान लेते हुए वन विभाग अधिकारियों द्वारा मुरादाबाद से बन्दर पकड़ने वाली टीम मय पिंजरा व वाहन के आज पनयाली भेजी गई। इस टीम द्वारा क्षेत्र से 39 बंदरों को पिंजरा बंद कर आज रेस्क्यू सेंटर अल्मोड़ा ले जाया गया। टीम का निर्देशन वन विभाग फोरेस्टर हरिहर सिंह बिष्ट व वन रक्षक पनयाली नन्दन सिंह अधिकारी द्वारा किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल‌ की जिला इकाई की बैठक में उठी व्यापारिक व क्षेत्रीय समस्याएं, व्यापारियों की एकजुटता पर बल

इस मौके पर चन्द शेखर पांडे ,गुड्डू पांडे ,अंकित पन्त ,माया टनवाल, प्राइमरी स्कूल के अध्यापक , बच्चों ने राहत की सांस लेते हुए वन विभाग, बंदर पकड़ने वाली टीम और‌ ईश्वर सिंह टनवाल का धन्यवाद ज्ञापित किया है। इधर पनयाली क्षेत्र में बिजली विभाग के 3300 के वी लाइन में हरे पेड़ टकराने से लगातार करंट का ख़तरा बना है जिसपर ईश्वर सिंह टनवाल द्वारा विद्युत विभाग के एसडीओ से वार्ता की गई।एसडीओ श्री चौहान द्वारा शीघ्र स्थलीय निरीक्षण कर कार्रवाई का आश्वासन दिया गया है।