रानीखेत के नवल पांडेय ने अपनी उद्यम यात्रा लेख में साझा किए अनुभव,कौशल दीक्षांत समारोह दिल्ली में हुआ ‘स्वावलंबन की ओर’ पुस्तक का विमोचन

ख़बर शेयर करें -

विश्वकर्मा जयंती पर नयी दिल्ली में शनिवार को ITI के कौशल दीक्षांत समारोह आयोजित किया गया। इस अवसर पर राष्ट्रीय उद्यमिता एवं लघु विकास संस्थान (निसबड) पुस्तक “स्वावलम्बन की ओर भाग 3” का विमोचन एमएसएमई मंत्री धर्मेंद्र प्रधान द्वारा किया गया। पुस्तक में रानीखेत चिलियानौला निवासी उद्यमी नवल पांडेय के उद्यम की यात्रा पर भी एक लेख दिया गया है।

पुस्तक में बताया गया है कि किस प्रकार 1999 में ITI से कौशल प्रशिक्षण लेने के बाद नवल पांडेय ने दिल्ली में एक दशक से अधिक समय तक तराजू मशीन व अन्य उपकरणों के उत्पादन व मरम्मत का अनुभव प्राप्त कर उन्होंने पहाड़ का रुख किया और आज एक सफल उद्यमी के रूप में पहाड़ो में अपनी सेवाए दे रहे हैं। पुस्तिका में विस्तृत रूप से उनकी उद्यम यात्रा पर लिखा गया है। एमएसएमई मंत्री धर्मेंद्र प्रधान द्वारा किया गया। वही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कार्यक्रम को वर्चुअल माध्यम से सम्बोधित किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  नंदादेवी मंदिर के विंशति: प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव के मौके पर विभिन्न पूजा अनुष्ठानों के साथ‌ विशाल‌ भंडारा, सैकड़ों श्रद्धालुओं ने ग्रहण किया प्रसाद

इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आईटीआई के कौशल दीक्षांत समारोह में स्किल डवलपमेंट पर जोर दिया है. उन्होंने कहा कि देश एक बार फिर स्किल को सम्मान दे रहा है. स्किल डेवलपमेंट पर ध्यान दिया जा रहा है. स्कूल के स्तर पर स्किल डेवलपमेंट को बढ़ावा देने के लिए स्किल हब खोले जा रहे हैं. स्कूलों में स्किल कोर्स शुरू किये जा रहे हैं. पीएम मोदी ने कहा कि सरकार ने 8 साल में 5 हजार नए आईटीआई खोले हैं.

यह भी पढ़ें 👉  नंदादेवी मंदिर के विंशति: प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव के मौके पर विभिन्न पूजा अनुष्ठानों के साथ‌ विशाल‌ भंडारा, सैकड़ों श्रद्धालुओं ने ग्रहण किया प्रसाद

राष्ट्रीय स्तर की पुस्तक पर नवल पांडेय कि उद्यम यात्रा प्रकाशित होने पर मोहन नेगी, ज्योति साह मिश्रा, मनोज अग्रवाल, मदन कुवार्बी, हर्षवर्धन पंत, कामरान कुरैशी, सहित उनके अनेक मित्रों ने उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनायें दी है।

यह भी पढ़ें 👉  नंदादेवी मंदिर के विंशति: प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव के मौके पर विभिन्न पूजा अनुष्ठानों के साथ‌ विशाल‌ भंडारा, सैकड़ों श्रद्धालुओं ने ग्रहण किया प्रसाद