रानीखेत खड़ी बाजार की ऐतिहासिक श्री रामलीला का मंचन 25 सितंबर से, कलाकारों को तराशने का कार्य अंतिम चरण में

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत: स्थानीय खडी़ बाजार में होने वाली ऐतिहासिक श्री रामलीला के मंचन को लेकर‌ इन दिनों जोर शोर से अभ्यास चल रहा है,वहीं २५सितंबर‌ से होने जा रही श्री रामलीला को लेकर कला प्रेमियों और धर्म परायण जनता में भी व्यग्र प्रतीक्षा देखी जा रही है।

आपको बता दें कि कोरोना काल के दो साल व्यवधान के बाद इस‌बार‌ श्री रामलीला कमेटी ने रामलीला मंचन का निर्णय लिया था इसके लिए पिछले माह अगस्त की १७ तारीख से तालीम (अभ्यास) भी‌ शुरू कर दी थी जो अब अपने अंतिम चरण में ‌‌‌‌है।तालीम में वरिष्ठ कलाकारों क्रमशः चक्रधर पांडे ,पूरन पपनै,परमानंद शायर और परमवीर मेहरा द्वारा कलाकारों को अभिनय‌ की बारीकियां सिखायी जा रही‌ हैं। जबकि हारमोनियम पर‌ उस्ताद मुन्ना भाई‌ और तबले पर लियाकत अली कलाकारों के संवाद सजा रहे‌ हैं। इस बार‌‌
श्री राम का अभिनय हर्षित अधिकारी ,लक्ष्मण का करन अधिकारी, सीता का अभिनय हर्षवर्धन पांडे,
भरत का अभिनय हर्षित और शत्रुघ्न शौर्य पांडे निभा रहे हैं। इसके अलावा हनुमान की भूमिका में पूरन पपनै ,रावण की भूमिका में राहुल और मेघनाथ की भूमिका में पीयूष साह नजर आएंगे।
उल्लेखनीय है कि रानीखेत की उपरोक्त रामलीला एक सदी से भी अधिक पुरानी है। बताते हैं कि १८८७में अल्मोड़ा से श्रीरामलीला की शुरुआत उत्तराखंड में हुई थी जिसे देवी दत्त जोशी ने शुरु किया था इसके डेढ़‌ दशक बाद रानीखेत में भी श्री रामलीला मंचन शुरू हुआ।पूरे कुमाऊं व गढ़वाल मंडल की तरह यहां भी‌ गेय‌ नाट्य के रूप में श्री रामलीला का मंचन होता है।दो वर्ष कोरोना की वज़ह से मंचन नहीं हो पाया था इस बार पुनः मंचन आरंभ होने से कला प्रेमियों में श्री रामलीला को लेकर उत्सुकता देखी जा रही है

यह भी पढ़ें 👉  खुशखबरी: हाईवे और बाईपास सड़कों के सुधार के‌ लिए केंद्र ने उत्तराखंड के लिए स्वीकृत की 2,006.82 करोड़ की‌ राशि
मेघनाथ -लक्ष्मण संवाद का अभिनय अभ्यास करते कलाकार
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.