अहमदाबाद, गुजरात के भारतीय उद्यमिता विकास संस्थान में आयोजित 6 दिवसीय फैकल्टी मेंटर डेवलपमेंट कार्यक्रम में पी जी कॉलेज रानीखेत जंतु विज्ञान डॉ0 निहारिका बिष्ट ने लिया प्रशिक्षण

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत -स्व० श्री जय दत्त वैला राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, रानीखेत में जंतु विज्ञान की प्राध्यापिका डॉ0 निहारिका बिष्ट ने 12 दिसंबर 2023 से 17 दिसंबर 2023 तक आयोजित 6 दिवसीय फैकल्टी मेंटर डेवलपमेंट कार्यक्रम में अहमदाबाद, गुजरात के भारतीय उद्यमिता विकास संस्थान में प्रशिक्षण प्राप्त किया। इस देव भूमि उद्यमिता योजना का उद्देश्य शिक्षा के साथ ही शिक्षित युवाओं को स्वरोजगार एवं उद्यमिता के क्षेत्र में कौशल संवर्धन एवं रोजगार हेतु प्रेरित करना है।

यह भी पढ़ें 👉  प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल‌ की जिला इकाई की बैठक में उठी व्यापारिक व क्षेत्रीय समस्याएं, व्यापारियों की एकजुटता पर बल

प्रशिक्षण के दौरान नवाचार, स्टार्टअप, उद्यमिता आइडियाज, समस्या का चुनाव, बिजनेस वैल्यू, ब्रांडिंग, फंडिंग, उद्यमिता शिक्षा, पर्सनेलिटी डेवलपमेंट, पिचिंग, उत्तराखंड में स्टार्ट अप, पर्यटन एवं उद्योग, छात्र उद्यमिता विषयों पर देवभूमि उद्यमिता योजना एवं इसके सशक्त क्रियान्वयन पर उद्यमिता के क्षेत्र में कार्य कर रहे विषय विशेषज्ञों द्वारा व्याख्यान दिए गए।
डॉ0 निहारिका द्वारा बताया गया कि आगामी 2 एवम् 3 जनवरी को देवभूमि उद्यमिता योजना के तहत ही महाविद्यालय में दो दिवसीय बूट कैंप लगाया जाएगा जो कि निःशुल्क होगा जिसमें महाविद्यालय के छात्र- छात्राओं के साथ क्षेत्र के आई. टी. आई., पालिटेक्निक एवं अन्य स्नातक एवं स्नातकोत्तर छात्र- छात्राओं को शामिल किया जाएगा। कैंप में प्रतिभागियों को स्टार्ट अप, इंटरप्रिन्योरशिप, ब्रांड, फंडिंग तथा इससे जुड़े विषयों पर विशेषज्ञों द्वारा बारीक जानकारी प्रदान की जाएगी।
भारतीय उद्यमिता विकास संस्थान के निदेशक, प्रोफेसर शुक्ला, कार्यक्रम समन्वयक डॉ0 द्विवेदी, डॉ0 निमिता एवं संस्थान के फैकल्टी एवं स्टार्टअप में कार्य कर रहे उद्यमियों द्वारा उद्यमिता एवं स्टार्टअप के व्यावहारिक प्रशिक्षण उद्यमिता एवं रोजगार आदि विषयों पर विस्तार से समझाया गया।
महाविद्यालय के प्राचार्य, प्रो0 पुष्पेश पाण्डे ने बताया कि महाविद्यालय में शीघ्र ही उद्यमिता केंद्र की स्थापना होगी एवम् डॉ0 निहारिका का प्रशिक्षण अनुभव निश्चित रूप से देवभूमि उद्यमता केंद्र की प्रगति में लाभदायक सिद्ध होगा । इस अवसर पर महाविद्यालय के समस्त प्राध्यापकों ने प्रसन्नता व्यक्त की ।