रानीखेत में १३२ वें‌ नंदाष्टमी महोत्सव की तैयारियां शुरू, मूर्ति निर्माण हेतु कदली वृक्षों को आमंत्रित करने पहुंचे आयोजक

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत: यहां 132वें माँ नन्दा-सुनन्दा महोत्सव की तैयारियां जोर-शोर से आरंभ ‌हो गई हैं इस क्रम में आज‌ आयोजन समिति के सदस्यों ने माधव कुंज राय इस्टेट जाकर कदली‌ वृक्षों को धार्मिक कर्मकाण्डों हेतु आमंत्रित किया। मां नन्दा-सुनंदा की प्रतिमा निर्माण हेतु इन कदली वृक्षों को 1सितम्बर को‌ पूजा अनुष्ठान के बाद‌ नंदा देवी मंदिर परिसर‌ लाया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर क्षेत्रीय विधायक के अनर्गल वक्तव्य से नाराज़ कार्यकर्ताओं ने फूंका क्षेत्रीय विधायक नैनवाल का पुतला

गत वर्षों की भाँति इस वर्ष भी कदली वृक्षों कोे मूर्ति निर्माण हेतु शुभ मूहर्त में माधवकुंज राय इस्टेट में आमंत्रित किया गया। नन्दा देवी के धर्म गुरु पं0 विपिन पंत द्वारा मंत्रोच्चार के साथ धार्मिक कर्मकाण्डों को सम्पन्न कराया गया। इस अवसर पर समिति के अध्यक्ष हरीश लाल साह, भुवन चन्द्र साह, किरन साह, प्रमोद काण्डपाल, मुकेश साह, संदीप तिवारी, एल0एम0 चन्द्रा आदि उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें 👉  स्व. इदरीश बाबा स्मृति सद्भावना फुटबॉल मैच का शुभारंभ,ऐरो स्पोर्ट्स और रानीखेत स्पोर्ट्स क्लब के खिलाड़ियों ने किया बेहतरीन प्रदर्शन

1 सितम्बर को प्रातः पूजा अनुष्ठान के बाद इन कदली वृक्षों को पारम्परिक वाद्य एवं मां के‌ जयकारों के साथ नगर परिक्रमा कराते हुए मां नंदा देवी मंदिर में लाया जाएगा। जहां इन वृक्षों से मां की प्रतिमाओं का‌ निर्माण कार्य शुरू होगा।चार सितंबर अष्टमी के दिन मां नंदा सुनंदा देवी प्रतिमाओं की प्राण प्रतिष्ठा पूजा अनुष्ठान ,हवन यज्ञ के साथ होगी। मां नंदा सुनंदा का डोला भव्य‌ शोभायात्रा के साथ‌ बुधवार सात सितम्बर की प्रातः 10:30 बजे निकलेगा।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.