रानीखेत में श्री नंदादेवी महोत्सव की तैयारियां शुरू, मां नंदा-सुनंदा मूर्ति निर्माण कार्य जारी, नंदा देवी परिसर‌ में 23 सितंबर से‌ बिखरेगी सांस्कृतिक छटा, देखें कार्यक्रम

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत -श्री नंदा देवी महोत्सव में इस बार 23 सितंबर से सांस्कृतिक कार्यक्रम और विभिन्न प्रतियोगिताओं के आयोजन का शुभारंभ होगा। शहरी व ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं की पहली बार होने जा रही झोड़ा चांचरी प्रतियोगिता मुख्य आकर्षण रहेगी। इस बीच मां नंदा -सुनंदा मूर्ति निर्माण कार्य भी जारी है जिनकी प्राण प्रतिष्ठा 23सितंबर अष्टमी के दिन प्रातः ब्रह्म मुहूर्त में की जाएगी।


महोत्सव में होने जा रहे कार्यक्रम की जानकारी देते हुए सांस्कृतिक संयोजक विमल सती ने बताया कि 23सितंबर पूर्वाह्न 11बजे से सब जूनियर, जूनियर व सीनियर वर्ग की अंतरविद्यालयी लोकनृत्य प्रतियोगिता आयोजित होगी तदुपरांत नवीं से बारहवीं कक्षा की छात्राओं की शकुनाखर एवं मांगल गीत तथा पति-पत्नी युगल लोकनृत्य प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी। प्रतियोगिता के बाद विजेताओं को पुरस्कृत किया जाएगा। रात्रि 8बजे से सांस्कृतिक मंच पर स्थानीय बच्चों व युवाओं के‌ नृत्य गीत कार्यक्रम होंगे।24सितंबर को‌ प्रातः 11बजे से छात्राओं व महिलाओं की ऐपण व मेहंदी और दो बजे से‌ कक्षा एक से आठ तक के बच्चों की फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता होगी। सांस्कृतिक संध्या में रात्रि आठ बजे से देवभूमि मां शारदे लोक कला समिति अल्मोड़ा की रंगारंग लोक प्रस्तुतियां रहेंगी।
25सितंबर सोमवार को प्रातः 12बजे से स्कूली बच्चों की सब जूनियर, जूनियर व सीनियर में चित्रकला प्रतियोगिता और अपराह्न तीन बजे से कुमाऊंनी व्यंजन प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। सांस्कृतिक संध्या में रात्रि 8बजे से‌ विहान सांस्कृतिक एवं सामाजिक संस्था‌ अल्मोड़ा की लोक प्रस्तुतियां रहेंगी। उन्होंने बताया कि 26सितंबर‌ मंगलवार को अपराह्न दो बजे से नवीं से बारहवीं तक की छात्राओं और महिलाओं की पारम्परिक लोक परिधान व शृंगार प्रतियोगिता और तीन बजे से महिलाओं की पारम्परिक झोडा़ चांचरी प्रतियोगिता का आयोजन होगा जबकि सांस्कृतिक संध्या में रात्रि आठ बजे से हिमालयन कल्चर समिति लोहाजंग, चमोली गढ़वाल की टीम लोक संस्कृति के रंग बिखेरेगी।
उन्होंने बताया कि 27सितंबर को मां नंदा-सुनंदा का डोला प्रातः दस बजे भव्य सांस्कृतिक शोभायात्रा के साथ‌ निकलेगा जिसमें स्थानीय स्कूली बच्चे पारम्परिक परिधान व‌ लोक झांकियों के साथ‌ शिरकत करेंगे।

यह भी पढ़ें 👉  चुनाव ड्यूटी से लौट रहा टीचर सड़क हादसे का शिकार, अज्ञात वाहन की टक्कर से मौत

इधर, मां नंदा देवी मंदिर में मां नंदा -सुनंदा की मूर्तियों के निर्माण का कार्य जारी है। मूर्ति निर्माण में मुख्य रूप से भुवन चंद्र साह, भुवन सती, किरण लाल साह, प्रमोद कांडपाल, मुकेश साह, गौरव भट्ट, ललित साह, अनिल वर्मा, जगदीश आर्या जुटे हुए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  चुनाव ड्यूटी से लौट रहा टीचर सड़क हादसे का शिकार, अज्ञात वाहन की टक्कर से मौत

मां नंदा‌ ,माँ नंदा-सुनंदा की मूर्ति निर्माण के विभिन्न सोपान👆👆👆