रानीखेत चिकित्सालय की बदहाल व्यवस्थाओं के खिलाफ कांग्रेस ने किया धरना-प्रदर्शन,हालात नहीं सुधारे तो 15दिन बाद‌ क्रमिक अनशन की धमकी

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत – कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने यहां गोविंद सिंह माहरा राजकीय चिकित्सालय की बदहाल व्यवस्थाओं के खिलाफ चिकित्सालय परिसर में धरना- प्रदर्शन किया और संयुक्त मजिस्ट्रेट को ज्ञापन देकर व्यवस्थाओं को दुरुस्त किए जाने की मांग की।
कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आज तय कार्यक्रम के तहत गोविंद सिंह माहरा राजकीय चिकित्सालय परिसर में चिकित्सालय की बदहाली के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया।इस दौरान कांग्रेस जनों ने मौजूदा भाजपा सरकार पर चिकित्सालय को चिकित्सा संसाधन विहीन बनाकर बर्बाद करने का आरोप लगाया।

बाद में संयुक्त मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंपा गया जिसमें कहा गया कि पूर्व में भी मुख्यमंत्री और राज्यपाल को भी ज्ञापन द्वारा चिकित्सालय की समस्याओं से अवगत कराया गया था लेकिन समस्याओं का अबतक संज्ञान न लेना खेदजनक है।

 ‌संयुक्त मजिस्ट्रेट को दिए‌ ज्ञापन में ‌औषधि केन्द्र को सुचारु रुप से संचालित करने का आदेश वर्तमान संचालक को देने ऐसा न होने पर वर्तमान संचालक का लाइसेन्स/आवंटन रद्द करने,नये आवेदक को जन औषधि केन्द्र संचालित करने का लाइसेन्स/आवंटन दिए जाने की मांग की गई।

कहा गया कि चिकित्सालय बिल्डिंग नुकसान  मामले में एफ0आई0आर0 निर्माण एजेन्सी के खिलाफ तो हुई परन्तु एजेन्सी के खिलाफ कोई ठोस कार्यवाही न होना प्रशासन/कानून व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह लगाता है, इसका भी खुलासा किया जाय।
   ज्ञापन में कहा गया कि बिल्डिंग में निर्माण के कारण हो रहे जल रिसाव से ओ0टी0 का संचालन ठप पड़ा है। साथ औषधि वितरण व भण्डारण केन्द्र भी जल रिसाव से दूषित हो रहा है, जिससे दवाईयों के खराब होने का खतरा है। इस जल रिसाव को अतिशीघ्र दुरुस्त करने की कार्यवाही की जाय। यह भी मांग की गई कि टेक्निशियनों की कमी से उपकरणों के संचालन के लिए टेक्निशियनों की अतिशीघ्र नियुक्ति की जाय। वार्ड ब्वाय की कमी से भी हाॅस्पिटल अपनी गरिमा खो रहा है। वार्ड ब्वॉय की  नियुक्ति की जाय। स्थानान्तरित विशेषज्ञ चिकित्सको के स्थान पर विशेषज्ञ चिकित्सको की अतिशीध्र नियुक्ति की जाय। सफाई व्यवस्था चिकित्सालय में दुरुस्त की जाय।  विशेषकर चन्दन डाइग्नोस्टिक सेन्टर में शौचालयों की व्यवस्था की जाय। चिकित्सालय की लचर प्रशासनिक व्यवस्था को दुरुस्त किया जाय।
उपर्युक्त मांगों के‌ 15दिन में निराकरण न होने पर‌ क्रमिक अनशन शुरू करने की चेतावनी दी गई 

धरना प्रदर्शन नगर अध्यक्ष उमेश भट्ट की अगुवाई में किया गया जिसमें पी.सी.सी. सदस्य कैलाश पाण्डे, महिला जिलाध्यक्ष गीता पवार, महिला नगर अध्यक्ष नेहा साह माहरा, पूर्व ब्लाॅक प्रमुख रचना रावत, यूथ विधानसभा अध्यक्ष अंकिता पंत, नगरपालिका अध्यक्ष कल्पना आर्या, ज्येष्ठ प्रमुख मोहन सिंह नेगी, ब्लाॅक अध्यक्ष गोपाल सिंह देव, व्यापार मण्डल महासचिव संदीप गोयल, उपाध्यक्ष दीपक पंत, काॅर्डिनेटर कुलदीप कुमार,, एस.सी. जिलाध्यक्ष ललित आर्या, कंचन आर्या, विश्व विजय सिंह माहरा, हरीश राम आर्या, व्यापार मण्डल अध्यक्ष कमलेश बोरा, पूर्व जिलाध्यक्ष महेश आर्या, पूर्व प्रवक्ता अतुल जोशी, जिला पंचायत प्रतिनिधि हेमंत रौतेला, चन्दन सिंह बिष्ट, हेमंत मेहरा, हेमंत बिष्ट, ग्राम प्रधान देवेन्द्र सिंह रौतेला,महेन्द्र सिंह डोगरा, विजय तिवारी, दीप उपाध्याय, रवीन्द्र प्रभात सिंह, प्रजापति पाण्डे, पूर्व प्रधान राजेन्द्र सिंह बिष्ट, गूड्डू खान, प्रजापति पाण्डे आदि लोग उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें 👉  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने रानीखेत नगर में सघन जनसंपर्क कर कांग्रेस प्रत्याशी को जिताने की अपील की