रानीखेत की तरन्नुम बनी ITBP में कांस्टेबल,उत्तराखंड से इस बार चयनित पहली युवती ,घर पहुंचने पर हुआ जोरदार स्वागत

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत के कुरैशियान मोहल्ला निवासी तरन्नुम क़ुरैशी रानीखेत की पहली युवती है जो ITBP में कांस्टेबल बनी है। कल जब वह बेसिक ट्रेनिंग कैम्प, पंचकुला हरियाणा में 6 महीने की ट्रेनिगं पास कर घर पहुंची तो परिजनों और मुहल्ले के लोगों ने उनका जोरदार स्वागत किया। आपको बता दें कि उत्तराखंड से एक मात्र युवती तरन्नुम का चयन हुआ है।भारत तिब्बत सीमा पुलिस की 42 बटालियन में तैनात तरन्नुम 6 अगस्त को भानु (हरियाणा)में शपथ परेड में भाग लेंगी।

यह भी पढ़ें 👉  जनसरोकारों के लिए प्रतिबद्ध उत्तराखंड के 'सार्वभौमिक' ट्रस्ट ने मनाया पांचवा स्थापना दिवस

स्थानीय कुरेशियान मुहल्ले में पिता स्व० अहमद बक्श
माता स्व० नफीसा खातून की आठ संतानों में सबसे छोटी तरन्नुम की प्रारम्भिक शिक्षा राजकीय आदर्श बालिका इंटर कालेज से हुई है। तरन्नुम को बचपन से ही आर्मी में जाने का शौक था। मम्मी-पापा ने हमेशा फौज में जाने के लिए प्रोत्साहित किया। माता-पिता के स्वर्गवास के बाद दोनों भाइयों ने कभी भी उसके हौसले को टूटने नहीं दिया।2021 में हुई भर्ती में 167वें बैच में 600 कैडेट का चयन हुआ जिसमें 77 बालिकाएं हैं।उत्तराखंड से एक मात्र तरन्नुम का चयन हुआ। दस दिन के अवकाश के बाद तरन्नुम जोधपुर में तैनात अपनी बटालियन में चली जाएगी।

यह भी पढ़ें 👉  छावनी परिषद विद्यालय के विद्यार्थियों ने पुरजोश के साथ निकाली तिरंगा रैली, माहौल हुआ देश भक्ति से सराबोर

यहां प्रकृत लोक कार्यालय पहुंची तरन्नुम ने बालिकाओं के नाम संदेश देते कहा कि आज बालिकाएं हर फील्ड में प्रतिभाग कर रही है लेकिन फौज में उतना ज़्यादा प्रतिभाग नही है खासकर उत्तराखंड के परिप्रेक्ष्य में, इसलिए लड़कियाँ ज़्यादा से ज़्यादा फौज में आएं और -प्रदेश देश का नाम रोशन करना चाहिए।

यह भी पढ़ें 👉  पीजी कालेज रानीखेत में आजादी का अमृत महोत्सव अंतर्गत कई प्रतियोगिताओं के साथ हुआ वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली की वीरता पर‌ नाट्य मंचन

Leave a Reply

Your email address will not be published.