रानीखेत की तरन्नुम बनी ITBP में कांस्टेबल,उत्तराखंड से इस बार चयनित पहली युवती ,घर पहुंचने पर हुआ जोरदार स्वागत

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत के कुरैशियान मोहल्ला निवासी तरन्नुम क़ुरैशी रानीखेत की पहली युवती है जो ITBP में कांस्टेबल बनी है। कल जब वह बेसिक ट्रेनिंग कैम्प, पंचकुला हरियाणा में 6 महीने की ट्रेनिगं पास कर घर पहुंची तो परिजनों और मुहल्ले के लोगों ने उनका जोरदार स्वागत किया। आपको बता दें कि उत्तराखंड से एक मात्र युवती तरन्नुम का चयन हुआ है।भारत तिब्बत सीमा पुलिस की 42 बटालियन में तैनात तरन्नुम 6 अगस्त को भानु (हरियाणा)में शपथ परेड में भाग लेंगी।

यह भी पढ़ें 👉  जी•डी • बिरला मैमोरियल स्कूल रानीखेत में शुरू हुआ दो‌ दिवसीय साहित्यिक,दृश्य एवं कला प्रदर्शन उत्सव-2022

स्थानीय कुरेशियान मुहल्ले में पिता स्व० अहमद बक्श
माता स्व० नफीसा खातून की आठ संतानों में सबसे छोटी तरन्नुम की प्रारम्भिक शिक्षा राजकीय आदर्श बालिका इंटर कालेज से हुई है। तरन्नुम को बचपन से ही आर्मी में जाने का शौक था। मम्मी-पापा ने हमेशा फौज में जाने के लिए प्रोत्साहित किया। माता-पिता के स्वर्गवास के बाद दोनों भाइयों ने कभी भी उसके हौसले को टूटने नहीं दिया।2021 में हुई भर्ती में 167वें बैच में 600 कैडेट का चयन हुआ जिसमें 77 बालिकाएं हैं।उत्तराखंड से एक मात्र तरन्नुम का चयन हुआ। दस दिन के अवकाश के बाद तरन्नुम जोधपुर में तैनात अपनी बटालियन में चली जाएगी।

यह भी पढ़ें 👉  जी•डी • बिरला मैमोरियल स्कूल रानीखेत में शुरू हुआ दो‌ दिवसीय साहित्यिक,दृश्य एवं कला प्रदर्शन उत्सव-2022

यहां प्रकृत लोक कार्यालय पहुंची तरन्नुम ने बालिकाओं के नाम संदेश देते कहा कि आज बालिकाएं हर फील्ड में प्रतिभाग कर रही है लेकिन फौज में उतना ज़्यादा प्रतिभाग नही है खासकर उत्तराखंड के परिप्रेक्ष्य में, इसलिए लड़कियाँ ज़्यादा से ज़्यादा फौज में आएं और -प्रदेश देश का नाम रोशन करना चाहिए।

यह भी पढ़ें 👉  जी•डी • बिरला मैमोरियल स्कूल रानीखेत में शुरू हुआ दो‌ दिवसीय साहित्यिक,दृश्य एवं कला प्रदर्शन उत्सव-2022

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *