भारत सरकार के आयुष सचिव पद्मश्री राजेश कटोचा ने जिले कोआयुर्वेद जिला बनाते हुएआयुर्वेद अस्पताल का प्रस्ताव भेजने को कहा

ख़बर शेयर करें -

रानीखेतः भारत सरकार के आयुष सचिव पद्मश्री वैद्य राजेश कोटेचा ने जनपद को आयुर्वेद जिला बनाने के साथ ही 1 0 व 50 बैड आयुर्वेद अस्पताल खोले जाने हेतु प्र्स्ताव भेजने को कहा । राजेश कोटेजा यहां भोले बाबा आयुर्वेदिक अनुसंधान संस्थान हैड़ाखान परिसर में एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।कार्यक्रम में जिले के प्रशासनिक अधिकारियों के साथ अल्मोड़ा ,ऊधम सिंह नगर, नैनीताल के चिकित्साधिकारियों ने शिरकत की।

कार्यक्रम में मुख्य विकास अधिकारी श्री नवनीत पाण्डे ने अल्मोड़ा में पर्यटन से जोड़ने और माननीय मुख्यमंत्री की घोषणा में आयुष मल्टीस्पेशलिटी हास्पिटल 50 बेड के स्थापना और कार्य योजना के बारे में बताया संयुक्त मजिस्ट्रेट रानीखेत जय किशन ने भारत सरकार एवं उत्तराखंड सरकार के सहयोग से उत्तराखंड को आयुष प्रदेश बनाने की समस्त योजनाओं पर प्रकाश डाला।कर्नल बी एस राणा ने हैड़ा खान परिसर के बारे में विस्तार से जानकारी दी।
भोलेबाबा आयुर्वेदिक अनुसंधान संस्थान के निदेशक डॉ विजय शील उपाध्याय ने पद्म श्री वैद्य राजेश कोटेचा का जीवन परिचय बताया।अल्मोड़ा के अध्यक्ष डॉ अजीत तिवारी ने अल्मोड़ा जनपद में पूर्व मे सचिव पद्मश्री वैद्य राजेश कोटेचा द्वारा की गई आयुर्वेद जिला बनाने, उत्तराखंड आयुष संवर्गीय ढांचे, एवं भावी कार्य योजना पर डॉ तिवारी ने विस्तृत जानकारी दी।

यह भी पढ़ें 👉  कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों की पूंजी निजी पूंजीपतियों के यहां निवेश कराने का लगाया आरोप,किया धरना प्रदर्शन

राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान जयपुर की प्रति कुलपति प्रो. डॉ. मीता कोटेचा ने जनपद में न्यूट्री गार्डन बनाने की एवं फलदार वृक्ष और एनिमिया से ग्रसित महिलाओं को आयुर्वेद से ही चिकित्सा करने का प्रपोजल बनाने को कहा।
पद्म श्री वैद्य राजेश कॉटेज सचिव आयुष मंत्रालय भारत सरकार ने आयुर्वेद मल्टी स्पेशलिटी अस्पताल हेतु राज्य सरकार से प्रस्ताव भेजने आयुष होम स्टे योजना के तहत अल्मोड़ा में आयुर्वेद के 10 एवं 30 बेड के हॉस्पिटल खोलने एवं अल्मोड़ा के आयुर्वेदिक चिकित्सा अधिकारियों हेतु आयुष मंत्रालय भारत सरकार द्वारा विशेष CME प्रोग्राम व सेमिनार आयोजित करने हेतु राष्ट्रीय आयुर्वेद विद्यापीठ में अल्मोड़ा जिले के सभी आयुष चिकित्सकों की विशिष्ट प्रशिक्षण के लिए प्रपोजल बनाने को कहा।
जिले में संचालित स्कूलों में 200 आयुर्वेदिक नर्सरी ,एक विशिष्ट आयुर्वेदिक नर्सरी बनाने का प्रस्ताव दिया।अल्मोड़ा में एक आयुष ग्राम की स्थापना का प्रस्ताव राज्य सरकार द्वारा भेजने का प्रस्ताव बनाने को कहा।

यह भी पढ़ें 👉  राजकीय‌ आदर्श बालिका इंटर कॉलेज में सात दिवसीय एनएसएस शिविर शुरू, स्वयंसेवी छात्राओं ने प्रस्तुत किए रंगारंग कार्यक्रम

कार्यक्रम के अंत में डॉ भूपेंद्र भैसोड़ा जिला आयुर्वेदिक एवं यूनानी अधिकारी ने सभी गणमान्य अतिथियों का आभार एवं धन्यवाद व्यक्त किया। कार्यक्रम में भारतीय चिकित्सा परिषद के सदस्य डॉ. हरिद्वार शुक्ला, केन्द्रीय आयुर्वेदिक अनुसंधान संस्थान के निदेशक डॉ गजेन्द्र राव,जिला आयुर्वेदिक एवं यूनानी अधिकारी डॉ महेंद्र सिंह गुंज्याल, जिला संघ अल्मोड़ा के सचिव डॉ जितेन्द्र कुमार पपनोई, डॉ आलोक शुक्ला, डॉ प्रदीप मेहरा, डॉ नंदलाल शुक्ल, डॉ संजय श्रीवास्तव, डॉ ओझा, डॉ केके पांडेय, डॉ सुहास पलाधि, डॉ विकास पलाधि, डॉ कुबेर अधिकारी, डॉ शैलेन्द्र डांगर, डॉ हेमंत तिवारी, डॉ सुखदेव बोनाल, डॉ मुकेश मोल्फा, डॉ विपिन गुप्ता, डॉ महेंद्र शाक्य, डॉ शोभा सनवाल, डॉ अभिलाषा गुप्ता मौजूद रहे।कार्य क्रम का संचालन प्रचार प्रसार सचिव डॉ मुकेश गुप्ता ने किया।

यह भी पढ़ें 👉  रामगढ़ में राजकीय उद्यान विभाग की भूमि उद्योग पतियों को देने का विरोध, स्थानीय निवासियों ने किया बेमियादी धरना आरंभ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *