राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय रानीखेत में गतिमान 12 दिवसीय कार्यशाला के छठवें दिन प्रतिभागियों द्वारा बजार से‌ उद्यम तथा उद्यमिता की बारीक जानकारियां जुटाईं

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत -राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय रानीखेत में गतिमान 12 दिवसीय कार्यशाला के छठवें दिन प्रतिभागियों द्वारा उद्यम तथा उद्यमिता की बारीक जानकारियां बज़ार निरीक्षण कर जुटाई गई।
बाज़ार निरीक्षण से पूर्व प्रतिभागियों को उनकी रूचि एवं बिज़नेस आइडिया के हिसाब से छह अलग-अलग समूहों में बाँटा गया जैसे कि कपड़े से जुड़ा व्यवसाय, खाद्य प्रसंस्करण, कृषि, होम स्टे, औषधीय पौधों की कृषि तथा सेवा क्षेत्र से जुड़े व्यवसाय आदि।
प्रतिभागियों ने अलग अलग संस्थानों में व्यापार से सम्बन्धित तैयार की गई प्रश्नावली के हिसाब से विभिन्न प्रश्न पूछ कर अपने ज्ञान को और विस्तृत किया तथा अपना उद्यम स्थापित करने की दिशा में मार्ग प्रशस्त किया।
कार्यक्रम के सातवें दिन के पहले दो सत्रों में एस. बी. आई. के अधिकारी विनय नौटियाल द्वारा केंद्र तथा राज्य सरकार की स्टार्टअप व उद्यमिता से जुड़ी अलग अलग योजनाओं को विस्तार में समझाया गया। वक्ता द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, प्रधान मंत्री सूर्य योजना, दीन दयाल उपाध्याय योजना तथा अन्य विभिन्न योजनाओं , दर, ब्याज, सब्सिडी तथा इनके अलावा वित्त का प्रबंधन, म्यूच्यूल फंड्स, एस. आई. पी, एफ. डी. इत्यादि विषयों पर वृहद् ज्ञान दिया गया।
दिन के अंतिम सत्रों में गैर सरकारी संगठन ‘मंच’ अल्मोड़ा से आए पी. एस.बिष्ट ने उत्तराखंड के परिप्रेक्ष्य में व्यापार का आधार समझाया। वक्ता द्वारा प्रतिभागियों द्वारा विगत दिन में किये गए बाजार सर्वे के बारे में प्रतिभागियों से विस्तार में चर्चा की गई तथा बाज़ार के मूलभूत सिद्धांतों को भी समझाया। कार्यक्रम का संचालन एवं निर्देशन डॉ. गणेश नेगी व डॉ. निहारिका बिष्ट द्वारा किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड के अध्यक्ष डा. गिरीश गोयल ने कुमाऊं दौरे के तहत पहुंचे रानीखेत, क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ अल्मोड़ा के पदाधिकारियों के साथ की बैठक