स्पेशल टास्क फोर्स ने किया देहरादून में साइबर ठगी का नेटवर्क संचालित कर रहे गैंग का पर्दाफाश

ख़बर शेयर करें -

देहरादून में स्पेशल टास्क फोर्स ने भर्ती घोटाले का खुलासा करने के दो दिन बाद आज यहां से देश में साइबर ठगी का नेटवर्क चलाने वाले गैंग का पर्दाफाश करने में सफलता हासिल की है।
आज बुधवार को एसटीएफ उत्तराखंड को सूचना प्राप्त हुई की प्रधानमंत्री योजना के नाम पर आधार कार्ड से लोन दिलाना जिस पर मात्र 1% ब्याज व 50% की छूट का झांसा देकर तथा मोबाइल टावर अपनी जमीन पर लगवाने के नाम पर ज्यादा से ज्यादा किराया देनाऔर विभिन्न प्रकार की घर बैठे -बैठे नौकरी देने के नाम पर झांसा दिया जाता है जिसमें उनसे रजिस्ट्रेशन के नाम पर और इंश्योरेंस के नाम पर सर्विस टैक्स सर्विस टैक्स, सिक्योरिटी मनी के नाम से अलग-अलग समय पर मिलाकर 40000 से ₹50000 एक व्यक्ति से ठग लिया जाता है।

यह भी पढ़ें 👉  बागेश्वर के कपकोट ब्लॉक में सड़क हादसा तीन महिलाओं समेत चार की मौत

उपरोक्त खुलासे को लेकर सी. ओ. अंकुश मिश्रा के नेतृत्व में एसटीएफ व साइबर टीम का गठन किया गया और विभिन्न स्थानों पर रेड की गई।
पूछताछ में अभियुक्त द्वारा बताया गया कि उनके द्वारा दिल्ली से एक टेक्स्ट बल्क मैसेज अलग-अलग राज्यों में अपने फर्जी नंबर देकर कई हजार लोगों को सेंड कराया जाता है जिसमें उनके द्वारा दिए गए नंबरों पर पीड़ित व्यक्तियों के द्वारा कॉल किया जाता है और वो उन्हें लैपटॉप में फर्जी उनके लोन के दस्तावेज बनाकर सेंड कर देते हैं और वह इन दस्तावेजों के झांसे में आकर हमें प्रथम बार में रजिस्ट्रेशन के नाम पर 600 से एक हजार रुपए फिर इंश्योरेंस के नाम पर 10 से ₹15000 टैक्स सर्विस के नाम पर ₹10000 के आसपास फिर सिक्योरिटी मनी के नाम से 10000 से ₹15000 रुपए अपने फर्जी अकाउंट में जमा करा लेते हैं उसके बाद उनसे अलग अलग झांसे देकर जो रकम दे सकता है वह ले लेते हैं कस्टमर के ज्यादा कॉल करने पर वह नंबर स्विच ऑफ कर देते हैं या उससे हफ्ता 10 दिन की मांग करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *