अल्मोड़ा मल्ला महल में बनेगी म्यूजियम गैलरी,रखी जाएगीं कुमाऊं और अल्मोड़ा के इतिहास की जानकारियां

ख़बर शेयर करें -

अल्मोड़ाः जिलाधिकारी वंदना सिंह की अध्यक्षता में आज मल्ला महल के द्वितीय चरणों में कराए जाने वाले कार्याे की परामर्शदाता बैठक नवीन कलेक्ट्रेट में आयोजित की गई। इस बैठक में अनेक क्षेत्रों में कार्य करने वाले विशेषज्ञों द्वारा प्रतिभाग किया गया और अपने महत्वपूर्ण सुझाव रखे।
जिलाधिकारी ने कहा कि मल्ला महल एक ऐतिहासिक भवन है यह महल ज्ञान व सांस्कृतिक रूप में विकसित हो सके इसके लिए हमें एक नियोजित प्लान के तहत कार्य करना होगा। उन्होंने बताया कि मल्ला महल के द्वितीय चरण में म्यूजियम गैलरी विकसित की जानी है जिसमें अल्मोड़ा के इतिहास से लेकर कुमाऊं के इतिहास की जानकारी रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि इस म्यूजियम गैलरी के बनने से आने वाली पीढ़ी वह पर्यटकों को इतिहास की जानकारी मिल सकेगी।
जिलाधिकारी ने कहा कि अल्मोड़ा पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण स्थान रखता है इसलिए अल्मोड़ा के मल्ला महल में म्यूजियम के बन जाने से अल्मोड़ा के सांस्कृतिक इतिहास की जानकारी एक स्थान पर मिल सकेगी। उन्होंने कहा कि मल्ला महल को सांस्कृतिक गतिविधियों का केंद्र बनाया जा सके इसके लिए हमें सभी प्रकार की सांस्कृतिक एवं ऐतिहासिक जानकारियों को एकत्रित करना होगा।                                  जिलाधिकारी ने  क्षेत्रीय पुरातत्त्व आधिकारी को निर्देश दिए की जनपद अल्मोड़ा के सभ्रांत नागरिकों, सामाजिक कार्याकर्ताओं व प्रबुद्धजनों के अलावा अल्मोड़ा की संस्कृति व विरासत की जानकारी रखने वाले लोगों से इस कार्य हेतु संपर्क किया जाय। उन्होंने सभी विशेषज्ञों से कहा है कि जो भी जानकारी/फोटोग्राफ्स/मैप इस गैलरी में संयोजित की जाएगी उसके इतिहास की जानकारी व प्रमाणिकता का विशेष ध्यान रखा जाए। उन्होंने कहा कि स्थानीय लोगों से सुझाव लिए जाय। साथ ही उनके पास यदि प्राचीन कलाकृतियॉ उपलब्ध हो तो उनको अल्मोड़ा फोर्ट में दान या उसे उपलब्ध कराने के लिए प्रेरित् किए जाय।
               उन्होंनेे कहा कि जिन लोगों के पास ऐतिहासिक सामग्री हो तो वे इस गैलरी में दे सकते हैं जिससे लोगों जानकारियॉ प्राप्त हो सके साथ ही इससे पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा। इस बैठक में मुख्य विकास अधिकारी नवनीत पांडे, गिरिजा पांडे, फोटोग्राफर अनूप शाह, एसएसजे कैंपस की डा० इला शाह, डा० सोनू दिवेदी, डा० बी0डी0एस0 नेगी, कमल किशोर सक्सेना, जन्मजेय तिवारी, स्वाति राय, जिला पर्यटन अधिकारी अमित लोहनी, क्षेत्रीय पुरातत्व अधिकारी सी0एस0 चौहान सहित अन्य लोग उपस्थित थे।
                                                          
                                                                                   
                                                                                         

यह भी पढ़ें 👉  पीजी कालेज रानीखेत में आजादी का अमृत महोत्सव अंतर्गत कई प्रतियोगिताओं के साथ हुआ वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली की वीरता पर‌ नाट्य मंचन

Leave a Reply

Your email address will not be published.