हल्द्वानी के संजीवनी अस्पताल के सर्जन डा.महेश का शव कश्मीर में झील से बरामद

ख़बर शेयर करें -

जम्मू कश्मीर के अनंतनाग जिले में ट्रेकिंग के दौरान नदी में गिरे हल्द्वानी के चिकित्सिक डा. महेश कुमार का शव पूरे एक महीने २ दिन बाद बरामद हो गया है। अनंतनाग जिला प्रशासन ने इसकी पुष्टि की है। गौरतलब है कि 22 जून को डा. महेश कुमार अपने गाइड के साथ नदी में गिर गए थे। उनके गाइड शकील अहमद का शव तो बचाव दल ने अगले ही दिन बरामद कर लिया था जेकिन डा. महेश का शव बरामद करने में रेस्क्यू टीम को पूरा एक महीना लग गया। वे तरसर झील में डूबे थे। अधिकारियों ने रविवार यह जानकारी देते हुए बताया कि डॉ महेश कुमार का शव पहलगाम के लिद्दरवाट इलाके के पास बरामद किया गया था। अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने डॉक्टर महेश के परिवार को सूचित कर दिया है और चिकित्सकीय तथा कानूनी औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद शव को परिजनों के सुपुर्द कर दिया जाएगा। गाइड शकील अहमद और डॉ. महेश कुमार उस 13 सदस्यीय ट्रेकिंग दल का हिस्सा थे तरसर झील के आसपास ट्रेकिंग के लिए निकला था। डाक्टर महेश कुमार हल्द्वानी के संजीवनी अस्पताल के संचालक थे।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.