देव भूमि इस घटना से हुई आज शर्मसार,अपहरण..दुष्कर्म ..और फिर कत्ल

ख़बर शेयर करें -

एक बेहद घिनौनी वारदात से देवभूमि में मानवता एक बार फिर शर्मसार हुई है,घटना देहरादून की है जहां मासूम बचपन न सिर्फ हवस और दरिंदगी का शिकार हुआ अपितु बेरहमी से कुचल दिया गया।पहले 5 वर्ष की मासूम बच्ची का अपहरण कर उसके साथ दुष्कर्म किया गयाफिर उसका गला घोट कर हत्या कर कर दी गई ।पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर दिया है ।

मिली जानकारी के अनुसार शहर कोतवाली इलाके से सोमवार की सुबह संदिग्ध हालत में 5 साल की मासूम बच्ची गायब हो गई थी। बुधवार की देर शाम को पुलिस ने गायब हुई बच्ची का प्रेम नगर के नजदीक राघढ़वाला चाय के बागान से शव बरामद कर लिया। पुलिस के मुताबिक आरोपी ने सोमवार की सुबह बच्ची का अपहरण कर उसके साथ दुष्कर्म किया और उसकी हत्या कर दी सब को झाड़ियों में छुपा कर वह अपनी मजदूरी करने निकल गया।
पीड़ित परिवार और आरोपी दोनों मूल रूप से ग्राम देवपुरा, जिला बेगूसराय बिहार के रहने वाले हैं।

यह भी पढ़ें 👉  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर क्षेत्रीय विधायक के अनर्गल वक्तव्य से नाराज़ कार्यकर्ताओं ने फूंका क्षेत्रीय विधायक नैनवाल का पुतला

दरअसल पुलिस को कोतवाली क्षेत्र के लक्ष्मण चौक चौकी में सोमवार की सुबह एक 5 वर्षीय बच्ची अपने घर के बाहर खेलते हुए लापता होने की जानकारी मिली लेकिन परिजनों ने तलाश करने के बाद जब शाम तक नहीं मिली तो अपहरण की आशंका को देखते हुए पुलिस और एसओजी ने जांच की और बच्ची की तलाश शुरू की।एसपी सिटी सरिता डोभाल खुद मौके पर मौजूद रही और आसपास पूछताछ के साथ सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए। इस दौरान बच्ची के पिता चंडीगढ़ में काम करते थे सूचना पर वह भी घर आ गए । इस जघन्य अपराध को अंजाम देने वाले पीड़ित परिवार के पड़ोस में रहने वाले एक युवक चुनचुन महतो को पुलिस ने संदिग्ध मानते हुए मंगलवार शाम को ही गिरफ्तार कर लिया था और उससे पूछताछ कर रही थी। पुलिस लगातार आरोपी युवक से मंगलवार की शाम से ही पूछताछ कर रही थी। लेकिन हर बार पुलिस को गुमराह कर रहा था कई बार पूछने पर उसने मुंह नहीं खोला बुधवार की सुबह उसने यह बता दिया कि उसने बच्ची को मार दिया है। लेकिन शव कहां फेंका है यह नहीं बताया पुलिस लगातार खोजबीन करती रही लेकिन आरोपी का मुंह खुलवाने में बुधवार की शाम को पुलिस कामयाब रही जिसके बाद शव बरामद हो पाया।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.