छावनी चुनाव बहिष्कार का आंदोलन नगर पालिका में शामिल करने की मांग में तब्दील, कहा लोकसभा सहित सभी चुनाव का होगा‌ बहिष्कार

ख़बर शेयर करें -


रानीखेत: गत दिवस छावनी परिषद चुनाव स्थगित होने के बाद आज रानीखेत विकास संघर्ष समिति का सांकेतिक धरना -प्रदर्शन दूसरे दिन भी जारी रहा। हालांकि अब मुद्दा चुनाव बहिष्कार नहीं रहा अपितु आंदोलन पूर्व गठित नगर पालिका में शामिल किए जाने की मांग पर आकर टिक गया है।

आज धरना स्थल पर हुई बैठक में एकजुट संकल्प लिया गया कि पूर्व गठित रानीखेत- चिलियानौला नगरपालिका में जब तक रानीखेत को सम्मिलित नहीं किया जाता तब तक रानीखेत के रहवासियों का आंदोलन अनवरत जारी रहेगा।

वक्ताओं ने कहा कि यह आंदोलन छावनी परिषद के काले कानूनों से आज़ादी पाने तक जारी रखा जाएगा और रानीखेत वासियों द्वारा प्रत्येक चुनाव का पूर्णतया बहिष्कार किया जाएगा जिसमें लोकसभा -2024 के चुनाव भी शामिल हैं। बैठक में वक्ताओं ने रानीखेत की सम्मानित जनता व विभिन्न संगठनों से नगरपालिका गठन के संघर्ष में अपनी भागीदारी निभाने की अपील की तथा छावनी परिषद द्वारा रानीखेत क्षेत्र के लोगों पर किये जा रहे अन्याय व दोयम दर्जे का बर्ताव करने पर रोष जताया। वक्ताओं में यह भी कहा कि आए दिन सेना द्वारा झूलादेवी से चौबटिया मोटर मार्ग को बंद करना, रानीखेत के विश्वप्रसिद्ध पर्यटन स्थल गोल्फ कोर्स को आम जनता व पर्यटकों के लिए बंद करना व रानीखेत के निवासियों को मालिकाना हक से वंचित रखना, भवन निर्माण संबंधी कार्यों पर रोक लगाकर आये दिन जनता को प्रताड़ित करना तथा हाउस टैक्स के बराबर वाटर टैक्स को जनता पर ज़बरदस्ती थोप कर उनका शोषण किया जाता रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  जी डी बिरला मैमोरियल स्कूल रानीखेत में एक बार फिर गूंजा राम का नाम , श्रद्धा व प्रेम से मनाया गया राम नवमी का पर्व और जी॰ डी॰ बिरला जयंती

धरना स्थल पर मौजूद सभी लोगों ने भविष्य में पुनः छावनी चुनाव व सम्पूर्ण छावनी के बहिष्कार की बात कही तथा यह भी कहा गया छावनी परिषद से रानीखेत क्षेत्र के आज़ादी हेतु 21मार्च को एक ज्ञापन महामहिम राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, रक्षामंत्री, रक्षा राज्य मंत्री सहित अन्य सभी जन प्रतिनिधियों को सौंपा जाएगा। तथा धरना- प्रदर्शन, बाजार बंदी, मशाल जलूस को यथावत चलाये रखने की बात कही गई।

यह भी पढ़ें 👉  भाजपा विधायक डॉ प्रमोद नैनवाल ने रानीखेत नगर में जन मिलन कर भाजपा प्रत्याशी के लिए मांगे वोट

धरने में डीएन बड़ोला,गिरीश भगत, हेमंत मेहरा, मोहन नेगी, हीरा रावत, हिमांशु उपाध्याय, नेहा माहरा, रचना रावत, अनूप अग्रवाल, राजेन्द्र जसवाल,भगवंत नेगी, कैलाश पांडेय, उमेश पंत,जगदीश अग्रवाल, हरीश अग्रवाल, यतीश रौतेला, संजय रौतेला, चारु चंद्र पंत, चारू पांडे,जयंत रौतेला, संदीप पाठक, आनंद रावत, संदीप गोयल, संजय पंत, शौकत अली,मोहन बिष्ट, अखिल माहेश्वरी, कवित भंडारी, जीवन चंद्र पांडेय, सुकृत साह, पंकज सिंह, हर्षित सती,दीपक पंत, कुलदीप कुमार, मनोज जोशी, विनीत चौरसिया, सोनू सिद्दीकी, हरीश पांडेय, किशन पपनै, किरण लाल साह,अनिल वर्मा,मुकेश साह, दीप पांडेय, दीपक बिनवाल, दीपक गर्ग, हिमांशु नैनवाल, रक़ीब क़ुरैशी ,शौकत अली,सहित व्यापार मंडल पदाधिकारीगण, छावनी परिषद के निवर्तमान सभासद, होटल एसोसिएशन, छात्र संघ सहित राजनीतिक और गैर राजनीतिक संगठनों सहित व्यापारियों और आम नागरिकों ने सहभागिता की।

यह भी पढ़ें 👉  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने रानीखेत नगर में सघन जनसंपर्क कर कांग्रेस प्रत्याशी को जिताने की अपील की