व्यापार मंडल के वर्तमान व पूर्व पदाधिकारियों ने कुमाऊं आयुक्त से नैनीताल में की मुलाकात,रानीखेत की पर्यटन से जुड़ी समस्याओं से अवगत कराया

ख़बर शेयर करें -

रानीखेतः रानीखेत व्यापार मंडल के वर्तमान और पूर्व पदाधिकारियों के प्रतिनिधियों ने आज कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत से उनके कार्यालय में मुलाकात कर उन्हें पर्यटन नगरी रानीखेत के पर्यटन विकास को लेकर ज्ञापन दिया और पर्यटन विकास में आढे़ आ रही समस्याओं के निराकरण कराने में सहयोग देने का अनुरोध किया।

प्रतिनिधि मंडल ने कुमाऊं कमिश्नर को अवगत कराया कि रानीखेत के पर्यटन को मुख्य आकर्षण गोल्फ ग्राउंड में पर्यटकों और स्थानीय नागरिकों के लिए प्रवेश पिछले कुछ वर्षों से प्रतिबंधित था जिसे पिछले माह से दो घंटे के लिए खोला गया है जो कि नाकाफी है जबकि 2018 में राष्ट्रपति सचिवालय के एक जवाब के मुताबिक गोल्फ ग्राउंड का दक्षिण भाग पर्यटकों और नागरिकों के लिए प्रतिबंधित नहीं है।ऐसे में आपसे अनुरोध है कि गोल्फ ग्राउंड को पूर्व की तरह पूर्णतः खुलवाने में 1पने स्तर से सहयोग करने की कृपा करें।
प्रतिनिधिमंडल ने चौबटिया के निकट ब्रिटिशकालीन रमणीक कृत्रिम झील जाने वाले ब्रिटिशर्स द्वारा निर्मित जीर्ण हो चुके मोटर मार्ग के सुधार की मांग की ताकि पर्यटक सुगमता से झील तक पहुंच सकें। व्यापार मंडल पदाधिकारियों ने कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत से रानीखेत चिलियानौला नगर पालिका से ग्राम सभा खनिया तक 1किमी प्रस्तावित रोप वे निर्माण की भी मांग की ताकि पर्यटक 377किमी लम्बी नयनाभिराम हिमालय श्रेणियों का लुत्फ उठा सकें।
प्रतिनिधि मंडल ने कमिश्नर को बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा कालिका -दलमोटी-पैंथरपुल-सोमनाथ ग्राउंड तक जंगल सफारी की घोषणा की थी जिसके लिए धन भी आवंटित हो गया था लेकिन योजना अभी ठंडे बस्ते में अतैव इसे कार्यगति दिलाने में सहयोग करने की कृपा करें। व्यापारी नेताओं ने कमिश्नर का ध्यान रानीखेत में शरदोत्सव और ग्रीष्मोत्सव आयोजन की ठप पड़ गई परम्परा की ओर आकृष्ट कराते हुए कहा कि इन उत्सवों के आयोजनों की शुरुआत ब्रिटिश दौर में रानीखेत से हुई थी लेकिन मैदान के अभाव में अब ये बंद है सेना के अधिकारियों से मिन्नतें करने के बाद बमुश्किल नरसिंह स्टेडियम मिल पाता हैअतैव इस समस्या का निराकरण करवाएं।व्यापार मंडल के नेताओं ने कहा कि अप्रतिम प्राकृतिक सौंदर्य से पूरित रानीखेत का शासन प्रशासन की उपेक्षा के चलते अन्य हिल स्टेशनों की तुलना में अपेक्षाकृत विकास नहीं हो पाया है ऐसे में स्थानीय नागरिक स्वयं को मायूस व ठगा सा महसूस करते हैं।प्रतिनिधि मंडल ने कुमाऊं कमिश्नर को रानीखेत आने का न्योता दिया तथा रानीखेत के सौंदर्यीकरण और पर्यटकों के लिए मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने में योगदान देने का अनुरोध किया।कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत ने प्रतिनिधिमंडल को समस्याओं के निदान के लिए तत्काल उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया।
कमिश्नर से मुलाकात कर ज्ञापन देने वालों में व्यापार मंडल महासचिव संदीप गोयल, उपाध्यक्ष दीपक पंत, महिला उपाध्यक्ष नेहा माहरा, कोषाध्यक्ष भुवन पांडेय, उपसचिव विनीत चौरसिया, पूर्व अध्यक्ष भगवंत नेगी व यतीश रौतेला, पंकज जोशी, हेमंत नेगी, सोनू सिद्दीकी शामिल रहे ।

यह भी पढ़ें 👉  छावनियों की जनता से आपत्ति व सुझाव मांगने के बाद छावनी भूमि प्रशासन नियम में ये हुआ संशोधन,रक्षा मंत्रालय ने अधिसूचना भी जारी की
कुमाऊं कमिश्नर को ज्ञापन सौपते प्रतिनिधिमंडल सदस्य

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *