रानीखेत में गमगीन माहौल में निकला चेहल्लुम के ताजियों का जुलूस, व्यापार मंडल ने किया ताजियों को पुरस्कृत

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत: यहां मुस्लिम समुदाय ने पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब के नवासे हसन हुसैन की याद में चेहल्लुम के ताजियों का जुलूस निकाला जो शहर के मुख्य मार्गो से होता हुआ इमामबाड़ा पहुंचा इस दौरान हैरतअंगेज अखाड़े के प्रदर्शन के साथ ताजियों के आगे ढोल तासों की थाप पर युवा ‘या हुसैन या हुसैन’ के नारे लगाते चल रहे थे। इमामबाड़ा पहुंच न्याज की रस्म अदा की गई जिसमें मुस्लिम समुदाय के लोगों ने बड़ी संख्या में भाग लिया।

यह भी पढ़ें 👉  अंकिता हत्याकांड को लेकर भिकियासैंण में भी‌ उबाल, युवाओं ने‌ निकाली आक्रोश रैली

हजरत इमाम हुसैन की योम-ए-शहादत के 40वें दिन चेहल्लुम पर यहां ताजियों का जुलूस निकाला गया।यहां खडी़ बाजार मध्य चौराहे पर हमेशा की तरह सायंकाल सभी ताज़िए इकट्ठा हुए और अखाड़े का हैरतअंगेज प्रदर्शन किया गया। इस बार मुस्लिम युवाओं द्वारा काफी मेहनत के साथ अलग-अलग स्थानों से सात दर्शनीय ताज़िए तैयार कर लाए गए थे। इन ताजियों का निर्माण करने वालों को व्यापार मंडल द्वारा पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। रात‌ तक अकीदतमंद ढोल तासा बजाते हुए या हुसैन की सदाओं के बीच चलते रहे। गमगीन माहौल में लोगों ने मातम किया।

यह भी पढ़ें 👉  अब कलम से छलक रहा कहीं दर्द.. कहीं गुस्सा।..अबकी बार फिर मारी गईं है अंकिता !
रानीखेत में मुस्लिम युवाओं द्वारा तैयार दर्शनीय ताज़िए
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.