पैंशनर्स आंदोलन को तीन माह हुए पूरे,आज राजकीय पैंशनर्स संगठन अल्मोडा़ ने भी दिया समर्थन

ख़बर शेयर करें -

भिकियासैंणः- तहसील मुख्यालय पर उत्तराखंड पैंशनर्स संगठन रामगंगा, भिकियासैंण के धरने को आज तीन महीने पूरे हो गए हैं। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार आज भिकियासैंण विकासखंड के पैंशनर्स ने धरना दिया।

आन्दोलन को समर्थन देने के लिए आज राजकीय पैंशनर्स संगठन अल्मोड़ा से जीवन चन्द्र तिवारी, नारायण राम आर्य व भगवन्त सिंह बिरौड़िया के संयुक्त नेतृत्व मेंं पैंशनर्स भिकियासैंण पहुंचे।
बैठक को संबोधित करते हुए नारायण राम आर्य कहा कि, हमारा संगठन पूरी तरह भिकियासैंण के आन्दोलन के साथ हैं हम यहां के आन्दोलन के पक्ष में जिला मुख्यालय में भी धरना शुरू कर देंगे। उन्होंने यहां के आन्दोलन की तारीफ करते हुए कहा कि, यहां पर 90-100 वर्ष की उम्र पार कर चुके पैंशनर्स को धरना देते हुए देखा जा रहा है कुछ लोग ऐसे भी हैं जो बैशाखी के सहारे कई किलोमीटर दूर से धरने में आ रहे हैं सचमुच यह एक अद्भुत आन्दोलन है। सरकार को एक दिन अवश्य झुकना पड़ेगा। संगठन के संयोजक जीवन चन्द्र तिवारी ने कहा कि, प्रदेश भर के पैंशनर्स व कर्मचारी इस आन्दोलन के साथ हैं आप सबकी आवाज बनकर उभरे हैं। आप लोग पिछले तीन महीने से सड़कों है हम आपके जज्बे को सलाम करने यहां आये हैैं।
संगठन के अध्यक्ष तुला सिंह तड़ियाल ने कहा कि, पूरे देश में उत्तराखंड पहला राज्य है जहां पैंशनर्स की पैंशन से बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने के नाम पर असंवैधानिक कटौती हो रही है अभी तक ग्रामीण क्षेत्रों में दस प्रतिशत लोगों के भी गोल्डन कार्ड नहीं बने है जिनके बनें हैं उन्हें इसका कोई लाभ नहीं मिल रहा है। बैठक को भगवन्त सिंह बिरौड़िया, रमेशचंद्र सिंह बिष्ट, पूर्व प्रधानाचार्य डॉ विश्वम्बर दत्त सती , गंगा दत्त जोशी, देबी दत्त लखचौरा, आनन्द प्रकाश लखचौरा, गंगा दत्त शर्मा, किसन सिंह मेहता, राम सिंह बिष्ट, कुन्दन सिहं बिष्ट, गोपाल दत्त भगत, राम सिंह रावत, मदन सिंह नेगी, प्रवीण सिंह कड़ाकोटी, खीमानंद जोशी, देब सिंह बंगारी, प्रताप सिंह नेगी, देब सिंह घुगत्याल, आदि लोगों ने सम्बोधित किया।

यह भी पढ़ें 👉  व्यापार मंडल जिलाध्यक्ष मोहन नेगी को मातृ शोक, संघ के प्रारम्भिक स्वयं सेवक रहे स्व.लीलाधर नेगी की पत्नी जानकी देवी का 90 वर्ष की आयु में इहलोक गमन
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.