उत्तराखंड: चीन सीमा को जोड़ने वाले चार पुल रक्षा मंत्री ने किए राष्ट्र को समर्पित

ख़बर शेयर करें -

पिथौरागढ़ जनपद को चीन सीमा से जोड़ने वाले जनपद में तवाघाट, घटियाबगड़ व जौलजीबी मुनस्यारी मिलम सड़क पर निर्मित चार पुलों को आज रक्षा मंत्री राज नाथ सिंह ने देश व सेना को लोकार्पित किया। इन पुलों से चीन सीमा तक भारतीय सेना को जाने में आसानी रहेगी और चीन सीमा के निकट भारत का सामरिक महत्व का आधारभूत ढांचा मजबूत होगा।
आज वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से इन पुलों को देश को समर्पित करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि इन पुलों के निर्माण से सेना व सीमांत इलाके के लोगों को लाभ मिलेगा और उनकी आवाजाही की अड़चन दूर होगी।
रक्षा मंत्री सिंह ने सबसे पहले लेह से वीसी से चीन सीमा को जोड़ने वाली जौलजीबी मिलम सड़क पर जौनाली गाड़ पर सीमा सड़क संगठन के 70 मीटर लंबे पुल का शुभारंभ किया।इसके बाद उन्होंने इसी सड़क पर बने किरकुटिया 180 व लास्पा में बनाए गये140फीट लंबे पुल को राष्ट्र को समर्पित किया।

यह भी पढ़ें 👉  अब कलम से छलक रहा कहीं दर्द.. कहीं गुस्सा।..अबकी बार फिर मारी गईं है अंकिता !

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने तवाघाट -घटियाबगड़ सड़क पर   जुंती गाड़ पर निर्मित140फीट लंबे पुल का भी शुभारंभ किया। यहां उन्होने कहा कि इस पुल का लाभ पर्यटन विकास में भी मिलेगा। उच्च हिमालयी क्षेत्र को जोड़ने वाली इन सड़कों में बने पुलों के लोकार्पण मौके पर रामनगर में मौजूद सीएम तीरथ सिंह रावत, अल्मोडा़ पिथौरागढ़ के सांसद अजय टम्टा भी वर्चुवल जुडे़ ,इसके अलावा हीरक परियोजना के मुख्य अभियंता एमएनवी प्रसाद,सीमा सड़क कृतिक बल के कमांडर कर्नल एनके शर्मा सहित कई लोग जुड़े रहे।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.