ग्रामीणों ने लगाया पेयजल पंपिंग योजना में भ्रष्टाचार का आरोप, जिलाधिकारी को ज्ञापन भेज जांच की मांग की

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत: ताड़ीखेत विकासखण्ड अंतर्गत धूराफाट क्षेत्र के ग्राम प्रधानों एवं ग्रामीणों ने आज यहां जिलाधिकारी के नाम संयुक्त मजिस्ट्रेट को ज्ञापन देकर बयेडी़ पेयजल पंपिंग योजना में भ्रष्टाचार की आशंका जताते हुए जांच की मांग की है।

ज्ञापन में कहा गया कि 17 करोड़ 34 लाख रुपए की लागत से स्वीकृत उपर्युक्त योजना की निविदा होने के बाद विभाग द्वारा ठेकेदार को 1करोड़ 10लाख का भुगतान भी कर दिया गया ।विभाग द्वारा 3 करोड़ 70लाख की पैमाइश भी कर दी गई है जबकि ठेकेदार द्वारा तीन- चार ट्रक पाइप बयेडी मोड़ पर डाले गए हैं जिनकी अनुमानित लागत पचास साठ लाख रूपए होती है। ग्रामीणों का कहना है कि इससे यह प्रतीत होता है कि योजना आरम्भ होने से पहले ही इसमें अनियमितता की जा रही है। ज्ञापन में जिलाधिकारी से योजना का कार्य शीघ्र आरम्भ कराने, जलनिगम अवर अभियंता द्वारा की गई पैमाइश का स्थलीय निरीक्षण करने और क्षेत्रीय पंचायत जन प्रतिनिधियों को विश्वास में लेकर नियमानुसार कार्य करवाने‌ की मांग की गई है। ज्ञापन देने वालों में ग्राम प्रधान बयेडी़ लीला देवी, ग्राम प्रधान हिडा़म, ग्राम प्रधान सौला द्वितीय मंजू देवी , पूर्व प्रधान बयेडी़, पू्र्व ज्येष्ठ प्रमुख प्रेम सिंह, पूर्वक्षेत्र पंचायत सदस्य बिल्लेख,आदि शामिल रहे। इससे पूर्व ग्रामीणों ने जलनिगम अधिशासी अभियन्ता को‌ भी‌ ज्ञापन सौंपा।

यह भी पढ़ें 👉  चुनाव ड्यूटी से लौट रहा टीचर सड़क हादसे का शिकार, अज्ञात वाहन की टक्कर से मौत

लछी राम , ग्राम प्रधान हिडा़म👆