रंगारंग कार्यक्रमों के साथ हुआ कांगो ब्रिगेड के ट्रैकिंग अभियान का समापन, आजादी के अमृत महोत्सव के तहत था आयोजन

ख़बर शेयर करें -

रानीखेतः-आज़ादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में आयोजित ट्रेकिंग अभियान का समापन समारोह काँगो ब्रिगेड की घिंघारीखाल बटालियन द्वारा चौखुटिया के बाखली मैदान में आयोजित किया गया। इस समारोह में मुख्य अतिथि कुमाऊँ रेजिमेंटल सेन्टर के कमाडेंट ब्रिगेडियर आई एस सम्याल, कांगो ब्रिगेड के कमांडर ब्रिगेडियर बी के अवस्थी, कर्नल अमित सैनी, एस डी एम द्वाराहाट जयवर्धन शर्मा और अन्य गणमान्य अतिथि मौजूद रहे।
भारतीय स्वतत्रंता के 75वें गौरवशाली वर्ष का जश्न मनाने तथा जागरूकता फैलाने के लिए आयोजित ट्रेकिंग अभियान में 75 सैनिकों द्वारा 75 गाँवो का ट्रेकिंग किया गया। ट्रेकिंग के सफल आयोजन के उपलक्ष्य में आयोजित समापन समारोह में एन सी सी केडेटस, स्कूली बच्चे और सैनिकों की भागीदारी महत्वपूर्ण रही। समारोह की शुरूआत “रन फॉर यूनिटी” के प्रतिभागियों के आगमन के साथ शुरू हुई जिसका आयोजन “फिट इंडिया” की थीम को बढ़ावा देने के लिए किया गया था जिसमें की 25 सैनिक स्याल्दे ब्लॉक की तरफ से, 25 NCC कैडेट्स द्वाराहाट की तरफ से और 25 स्कूली बच्चे चौखुटिया की तरफ से एकता की मशाल के साथ 10 कि मी दौड़कर बाखली मैदान में पहुंचे।

यह भी पढ़ें 👉  स्व. जय दत्त वैला पी जी कालेज में समारोहपूर्वक मनाया गया एनसीसी दिवस, कैडेट्स ने पेश किए देश भक्ति कार्यक्रम

मैदान में पहुंचने के बाद एकता की मशाल को समारोह के मुख्य अतिथि को सौंपा गया और एकता की मशाल को स्थापित कर समापन समरोह का आरंभ हुआ। इस मौके पर स्कूली बच्चों द्वारा सांस्कृतिक प्रस्तुतियों और पाइप बैंड के प्रदर्शन ने दर्शकों में हर्षोल्लास का माहौल पैदा कर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। भारतीय सेना द्वारा चिकित्सा कैम्प का भी आयोजन किया गया जिसमें हड्डी रोग विशेषज्ञ, कान, नाक, गाला विशेषज्ञ, प्रसूतिशास्री विशेषज्ञ और ओ पी डी का भी प्रावधान था। भूतपूर्व सैनिकों को चिकित्सा के द्वारा उनकी जाँच करके निःशुल्क दवाईयां भी दी गयी। इस चिकित्सा कैम्प का उद्देश्य भूतपूर्व सैनिकों की जाँच, सामूहिक स्वच्छता और कोविड से बचाव के लिए जागरूकता देना था। इसके इलावा भुतपूर्व सैनिकों की समस्याओं को जानने तथा उन्हें दूर करने के लिए शिकायत केंद्र को भी स्थापित किया गया जिसमें भूतपूर्व सैनिकों की सभी शिकायतों को दर्ज करके उनके समाधान के लिए आश्वासन दिया गया। महोत्सव के समग्र विषयवस्तु को ध्यान में रखते हुए “स्वच्छ भारत, हरित भारत” के संदेश के साथ ट्रेकिंग के लिए चिन्हित किए गये सभी पाँच ब्लॉकों में 7500 पौधे लगाने हेतु वृक्षारोपण अभियान भी आयोजित किया गया था। इस समारोह में “राष्ट्रीय एकता और समृद्धि” के उद्देश्य के तहत लोगों के बीच आपसी भागीदारी का मार्ग प्रशस्त किया।

यह भी पढ़ें 👉  छावनियों की जनता से आपत्ति व सुझाव मांगने के बाद छावनी भूमि प्रशासन नियम में ये हुआ संशोधन,रक्षा मंत्रालय ने अधिसूचना भी जारी की

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *