चिकित्सक की कथित अभद्रता के खिलाफ रानीखेत चिकित्सालय में कांग्रेस कार्यकर्ताओं का हंगामा,पुलिस के साथ धक्कामुक्की

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत:राजकीय चिकित्सालय में आज एक महिला चिकित्सक पर एक प्रसूता और उसके पति के साथ कथित तौर पर अभद्र व्यवहार करने और प्रसूता को नवजात शिशु के साथ जबरन रेफर करने की कोशिश का आरोप लगाते हुए क्षेत्र प्रमुख के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हंगामा किया।इस दौरान माहौल को शांत कराने आई पुलिस के साथ कार्यकर्ताओं की धक्कामुक्की भी हुई।

जानकारी के अनुसार ताड़ीखेत स्वास्थ्य केंद्र में महिला की डिलीवरी हुई थी ।जच्चा बच्चा को परेशानी होने पर रानीखेत चिकित्सालय भर्ती कराया गया ।लेकिन महिला के पति ने चिकित्सकों पर आरोप लगाया कि मरीज को रेफर करने का प्रयास किया गया और महिला चिकित्सक द्वारा उनके साथ बदसलूकी की गई। इसकी शिकायत क्षेत्र प्रमुख हीरा रावत से की गई। क्षेत्र प्रमुख के नेतृत्व में स्थानीय कांग्रेस कार्यकर्ता व ग्रामीण अस्पताल परिसर में एकत्र होकर मामले से जुडे़ चिकित्सक के खिलाफ नारे बाजी करने लगे हंगामा बढ़ता देख प्रशासन को सूचित किया गया। प्रदर्शन कर रहे लोगों की शांति व्यवस्था कायम करने आई पुलिस के साथ धक्कामुक्की भी हुई। हंगामा बढ़ता देख संयुक्त मजिस्ट्रेट व तहसीलदार भी मौकेे पर पहुंचे। इधर चिकित्सालय के सीएमएस डॉ0 के के पांडे ने बताया कि सभी आरोपों को निराधार बताते हुए कहा किनवजात शिशु के पिता ने ब्लॉक प्रमुख को विवाद व अभद्रता संबंधी झूठी बात बताकर उन्हें गुमराह किया। जिस कारण ये पूरा बवाल हुआ है। शिशु को उचित उपचार दिया गया है, चिकित्सालय में शिशु पूरी तरह स्वस्थ्य है।
इसबीच डा.के के पांडेय और उनकी चिकित्सक पत्नी के त्याग पत्र और स्थान्तरण की मांग को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने संयुक्त मजिस्ट्रेट जय किशन को एक ज्ञापन भी दिया। इधर बताया गया कि इस मामले में मुख्य चिकित्सा अधिकारी के यहां पहुंचने के बाद आगे की कार्रवाई होगी।
हंगामा प्रदर्शन में पूर्व प्रमुख रचना रावत, नगर अध्यक्ष उमेश भट्ट, ब्लॉक अध्यक्ष गोपाल देव, चंदन बिष्ट, हेमन्त रौतेला, यतीश रौतेला, अमित पांडेय, सोनू सिद्दीकी, हिमांशु रावत, छात्र संघ अध्यक्ष मनीष भैसोडा़ आदि शामिल रहे।

यह भी पढ़ें 👉  जी डी बिरला मैमोरियल स्कूल में धूमधाम से मना दशहरा, भव्य कार्यक्रम के बीच रावण का पुतला जलाया गया
8
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.