कांग्रेस ने जासूसी मामले को लेकर किया राजभवन कूच,पुलिस से नोकझोंक के बाद गिरफ्तारियां, निजी मुचलकों पर छोडा़ गया

ख़बर शेयर करें -

देहरादून:पेगासस जासूसी मामले में आज कांग्रेस ने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक राज भवन तक विरोध मार्च शुरू किया जिसे पुलिस ने हाथी बड़कला पर बेरिकेटिंग लगाकर रोक लिया।इस दौरान पुलिस के साथ कार्यकर्ताओं की नोकझोक भी हुई।वरिष्ठ नेताओं और कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया ,बाद में निजी मुचलकों पर छोड़ दिया गया।

यह भी पढ़ें 👉  रानीखेत में मां दुर्गा महोत्सव शुरू, मां दुर्गा पंडाल में हुई मां की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा,देवी के दर्शनार्थ श्रद्धालुओं का तांता

पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक आज कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बडी़ संख्या में एकत्र होकर प्रदेश अध्यक्ष की अगुवाई में राजभवन तक विरोध मार्च निकालने की शुरूआत की लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक लिया इस दौरान पुलिस से झड़प भी हुई। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह सहित कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय, पूर्व कैबिनेट मंत्री दिनेश अग्रवाल, पूर्व कैबिनेट मंत्री हीरा सिंह बिष्ट सहित कई नेताओं को पुलिस गिरफ्तार कर पुलिस लाइन ले गई।कुछ देर तक पुलिस लाइन में बैठाए रखने के बाद सभी को निजी मुचलके पर छोड़ दिया गया। इधर प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि केन्द्र सरकार वरिष्ठ नेताओं की जासूसी कराकर लोकतांत्रिक मूल्यों को खत्म कर रही है साथ ही निजता के अधिकार का हनन कर रही है।उन्होंने कहा कि राज्यपाल को ज्ञापन देकर पूरे मामले की जांच उच्चतम न्यायालय की देखरेख में किए जाने की मांग की जाएगी।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.