रानीखेत नागरिक क्षेत्र को छावनी से हटाकर नगर पालिका परिषद में शामिल करने की मांग पर 56 वें दिन भी जारी रहा धरना-प्रदर्शन,सीएम धामी को भेजा स्मरण पत्र

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत: छावनी से नागरिक क्षेत्र को पृथक कर रानीखेत-चिलियानौला नगर पालिका परिषद में शामिल किए जाने की मांग को लेकर रानीखेत विकास संघर्ष समिति का धरना -प्रदर्शन आज 56 वें दिन भी जारी रहा। आज संघर्ष समिति ने संयुक्त मजिस्ट्रेट के माध्यम से मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को स्मरण पत्र भेज कर‌ रानीखेत नगर को‌ नगर पालिका घोषित करने की मांग की।

यह भी पढ़ें 👉  इस बार उत्तराखंड में 2019 की‌ तुलना में कम हुआ मतदान,पूरे प्रदेश में 53.56मतदान, उदासीन दिखा मतदाता

इधर ,धरना स्थल पर हुई बैठक में संघर्ष समिति ने नागरिकों ने आन्दोलन में सहभागिता कर एकजुट संघर्ष को ताकत देने की अपील की।आज‌ धरने‌ में वरिष्ठ नागरिक, व्यापारी,होटल एसोसिएशन के सदस्य शामिल रहे। धरना-प्रदर्शन के बाद संयुक्त संघर्ष समिति के शिष्टमंडल ने संयुक्त मजिस्ट्रेट से मुलाकात कर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को स्मरण पत्र भेजकर रानीखेत नगर को नगर पालिका घोषित करने की मांग की साथ ही कहा कि इस आशय का प्रस्ताव कैबिनेट से पास कर केंद्र सरकार को भेजकर प्रधानमंत्री एवं रक्षा मंत्री से रानीखेत को नगर पालिका बनाए जाने का अनुरोध करें।

यह भी पढ़ें 👉  वोट डालने हल्द्वानी जा रहे चिकित्सक की कार अनियंत्रित होकर खाई में गिरी, हुई मौत,