रानीखेत चिकित्सालय में चिकित्सकों और चिकित्साकर्मियों ने विकसित किया ‘हर्बल गार्डन’, सौंदर्यीकरण के साथ मरीज भी औषधीय पादपों के प्रति होंगे जागरूक

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत: रानीखेत क्षेत्र में गोविंद सिंह माहरा राजकीय चिकित्सालय एक ऐसा अस्पताल बनने जा रहा है जहां मरीजों को स्वास्थ्य सुविधाएं मिलने के साथ ही औषधीय पौधों को लेकर जागरूक होने का अवसर मिलेगा। चिकित्सालय में आज इसके लिए अभिनव प्रयोग करते हुए चिकित्सकों ने परस्पर सहयोग से हर्बल गार्डन विकसित करने की शुरुआत की।

यह भी पढ़ें 👉  रानीखेत में महिला कांग्रेस का नारी न्याय सम्मेलन संपन्न,अब कांग्रेस गांव-गांव नारी न्याय यात्रा निकाल महिलाओं को करेगी जागरूक

आज चिकित्सालय के प्रभारी चिकित्सा अधीक्षक, डॉ दीप प्रकाश पार्की की अगुवाई में चिकित्सासकों और चिकित्साकर्मियों ने साझे प्रयास से परिसर में हर्बल गार्डन विकसित किया गया।गार्डन में औषधीय गुणों से भरपूर पौधें मसलन शतावरी, तुलसी,तेजपत्ता,छोटी इलायची कड़ी पत्ता पदम,गिलोय, हरण, आंवला, कासनी, पाषाण बेबी, निर्गुंडी, रीठा, आदि लगाए गए।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी बनभूलपुरा हिंसा में छह उपद्रवी और गिरफ्तार किए गए,अब तक 74उपद्रवी गिरफ्तार

गार्डन विकसित करने में डॉ दीप प्रकाश पार्की,डॉ.हर्षवर्धन पंत, डॉ नरेश गुलवानी, फार्मेसिस्ट गिरधर सिंह बिष्ट,फिजियोथैरेपिस्ट वर्षा, नेत्र सहायक आरती, वार्ड बॉय सुनील, इंद्र कुमार, अनुसेविका दया देवी ने सहयोग किया। पर। प्रभारी चिकित्सा अधीक्षक डॉ पार्टी ने बताया कि चिकित्सालय में हर्बल गार्डन विकसित करने का उद्देश्य यहां इलाज के लिए आने वाले रोगियों वह तीमारदारों को औषधीय पादपों के प्रति जागरूक करने के अलावा चिकित्सालय परिसर के नैसर्गिक सौंदर्य को बढ़ावा देना है।

यह भी पढ़ें 👉  धामी कैबिनेट की बैठक संपन्न, आज ये लिए गए महत्वपूर्ण फैसले