कैंट कर्मचारी महासंघ ने रक्षा मंत्री,रक्षा राज्य मंत्री से मुलाकात कर छावनी परिषद खत्म होने पर‌ कर्मचारियों को केंद्रीय विभागों में समायोजित करने की मांग की

ख़बर शेयर करें -

महानिदेशक जी एस राजेश्वरन से मुलाकात करते कैंट कर्मचारी महासंघ पदाधिकारी👇

रानीखेत– द कैंट बोर्ड कर्मचारी महासंघ राष्ट्रीय महामंत्री ईश्वर सिंह टनवाल के नेतृत्व में महासंघ के पदाधिकारियों के शिष्टमंडल ने केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा राज्यमंत्री अजय भट्ट सहित रक्षा मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों से मुलाकात कर छावनी परिषदों के राज्य निकायों में विलय की दशा में छावनी कर्मचारियों के पूर्ण भुगतान के साथ उन्हें केंद्रीय विभागों में समायोजित करने की मांग की।

यह भी पढ़ें 👉  पूर्व मंत्री गोविंद सिंह माहरा की‌103वीं जयंती पर‌ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने चिकित्सालय में मरीजों को फल‌ वितरण किया

द कैंट बोर्ड कर्मचारी महासंघ के राष्ट्रीय महामंत्री ईश्वर सिंह टनवाल के नेतृत्व में महासंघ पदाधिकारी क्रमशः राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्रीमती वैशाली केनकर, राष्ट्रीय संयोजक डॉ नरेश शास्त्री, जोनल सचिव दक्षिण दीपक अड़सुले ,जोनल सचिव मध्य कमान राजेन्द्र बिष्ट, राष्ट्रीय विशिष्ट सदस्य राजकुमार, अम्बाला कैंट यूनियन अध्यक्ष संजय सहित देश भर से आए पदाधिकारियों के शिष्टमंडल ने दिल्ली में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह व रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट महानिदेशक जी एस राजेश्वरन ,अपर महानिदेशक श्रीमती सोनम यगडोल व रेल राज्य मंत्री राव साहेब पाटिल दानवे, सांसद अल्मोड़ा अजय टम्टा, सांसद कानपुर सहित लगभग 15 सांसदों से मुलाकात की।

यह भी पढ़ें 👉  भिकियासैण उप जिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन,एक सप्ताह में पेयजलापूर्ति सुचारू न होने पर तहसील मुख्यालय पर धरना-प्रदर्शन की‌ चेतावनी

महासंघ के शिष्टमंडल ने छावनी परिषदों के नगर पालिकाओं में विलय की स्थिति में छावनी कर्मचारियों के निकायों में स्थानान्तरण पर वार्ता की। कर्मचारी नेताओं ने मांग रखते‌ हुए कहा कि छावनी परिषदों के विलय की स्थिति से पहले कर्मचारियों का पूर्ण भुगतान किया जाए। कर्मचारियों को‌ ए सी पी का पूरा लाभ मिलना चाहिए साथ ही कर्मचारियों को विभाग चुनने का विकल्प दिया जाए। कर्मचारी नेताओं ने कहा कि समस्त छावनियों के कर्मचारी को केन्द्रीय विभागों में विलय किया जाना चाहिए और सेवानिवृत्त पैकेज का लाभ मिलना चाहिए।