भारतीय सेना और उज्बेकिस्तान सेना के बीच सैन्य अभ्यास 20 फरवरी से 05 मार्च 2023 तक पिथौरागढ़ में,उज्बेकिस्तान का दल अभ्यास स्थल पर पहुंचा

ख़बर शेयर करें -

भारतीय सेना और उज्बेकिस्तान सेना के बीच सैन्य आदान-प्रदान कार्यक्रम के हिस्से के रूप में, द्विवार्षिक प्रशिक्षण अभ्यास DUSTLIK (2023) का चौथा संस्करण 20 फरवरी से 05 मार्च 2023 तक पिथौरागढ़, भारत में आयोजित किया जाएगा। इस द्विपक्षीय अभ्यास में भारतीय दल का प्रतिनिधित्व पश्चिमी कमान की 14वीं बटालियन द गढ़वाल राइफल्स द्वारा किया जाएगा। उज़्बेकिस्तान सेना का प्रतिनिधित्व उज़्बेकिस्तान सेना के उत्तर पश्चिमी सैन्य जिले के सैनिकों द्वारा किया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  बीर शिवा स्कूल चौखुटिया में पुलिस ने विद्यार्थियों को किया साइबर क्राइम के प्रति जागरूक

इस संयुक्त अभ्यास का उद्देश्य संयुक्त राष्ट्र शासनादेश के तहत एक उप पारंपरिक परिदृश्य में बहु डोमेन संचालन करने के लिए सैन्य क्षमता को बढ़ाना है।

प्रशिक्षण अभ्यास DUSTLIK-2023 के लिए अभ्यास योजना सम्मेलन (EPC) 10 जनवरी से 12 जनवरी 23 तक पिथौरागढ़ में आयोजित किया गया था और इसमें भारतीय सेना के एक कर्नल के नेतृत्व में रक्षा सहयोग प्रभाग के एक अधिकारी सहित तीन सदस्यों के एक प्रतिनिधिमंडल ने भाग लिया था। उक्त अभ्यास के लिए चुनी गई सेना की टुकड़ी को कड़े प्रशिक्षण कार्यक्रम के द्वारा परखा गया है जिसमें फायरिंग, कॉम्बैट कंडीशनिंग, सामरिक संचालन, विशेष ऑपरेशन, हाउस क्लीयरेंस/रूम इंटरवेंशन ड्रिल, सुपरवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस ऑपरेशन और रॉक क्राफ्ट शामिल हैं।

यह भी पढ़ें 👉  कविवर सुमित्रानंदन पंत की 124वीं जयंती उनके पैतृक गांव में समारोह पूर्वक मनाई गई, काव्य गोष्ठी आयोजित, साहित्यकार हुए सम्मानित

उज्बेकिस्तान का अभ्यास दल 18 फरवरी 23 को अभ्यास स्थान पर पहुंच चुका हैं। संयुक्त अभ्यास मे शामिल टुकड़ियाँ संयुक्त राष्ट्र शासनादेश के तहत अर्ध-शहरी और पहाड़ी इलाकों की पृष्ठभूमि में उप पारंपरिक संचालन पर ध्यान केंद्रित करेंगे। प्रशिक्षण मुख्य रूप से उच्च स्तर की शारीरिक फिटनेस, सामरिक स्तर पर ड्रिल को साझा करने, विशेष संचालन करने और एक दूसरे से सर्वोत्तम प्रथाएं सीखने पर केंद्रित होगा। अभ्यास का उद्देश्य दो सेनाओं के बीच समझ, सहयोग और अंतर प्रचालनीयता को बढ़ाना है। अभ्यास 48 घंटे लंबे सत्यापन अभ्यास में समाप्त होगा जिसमें अर्ध-शहरी क्षेत्र में सशस्त्र व्यक्तियों को बेअसर करना शामिल होगा।

यह भी पढ़ें 👉  रानीखेत नगर के सौंदर्यीकरण के लिए व्यापार मंडल‌ चयनित स्थानों पर सेल्फी पॉइंट बनाएगा, छावनी परिषद सीईओ से मांगी अनापत्ति