छावनी बहिष्कार और नगर पालिका में शामिल करने की मांग पर रानीखेत में धरना छठे दिन भी जारी, बताया सीएम अगली कैबिनेट में लाएंगे प्रस्ताव

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत: यहां गांधी चौक में ‌‌रा‌नीखेत के सिविल एरिया को रानीखेत छावनी से आज़ादी की मांग पर धरना- प्रदर्शन छठे दिन भी जारी रहा।

धरना स्थल पर वक्ताओं ने रानीखेत के नागरिकों व विभिन्न संगठनों से धरना स्थल गांधी चौक में पहुंचकर छावनी के काले कानूनों और सम्पूर्ण छावनी के बहिष्कार हेतु अपना समर्थन देने की अपील की। विगत दिवस रानीखेत सिविल एरिया को नगर पालिका में शामिल करने की मांग पर‌ मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मिलकर लौटे शिष्टमंडल के सदस्यों ने धरना स्थल पर बताया कि मुख्यमंत्री ने इस मांग पर सकारात्मक रूख दिखाते हुए अगली कैबिनेट की बैठक में रानीखेत सिविल एरिया को रानीखेत-चिलियानौला नगरपालिका में शामिल कराने के लिए केंद्र को प्रस्ताव भेजने की बात कही है।इधर, आज धरना स्थल पर पहुंच कर उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष पी०सी० तिवारी ने अपना समर्थन दिया।

यह भी पढ़ें 👉  केआरसी सेंटर आफिस में 21जून को आयोजित होगा भूतपूर्व सैनिक मेला, सभी भूतपूर्व सैनिकों से मेले में शिरकत कर अपनी समस्याएं बताने की अपील

धरने में हेमंत मेहरा, मोहन नेगी, हिमांशु उपाध्याय, नेहा माहरा, कैलाश पांडेय, जगदीश अग्रवाल, हरीश अग्रवाल, यतीश रौतेला, जयंत रौतेला, आनंद रावत, संदीप गोयल, अखिल माहेश्वरी, सोनू सिद्दीकी, किशन पपनै, किरण लाल साह, डी०सी० साह, अनिल वर्मा, खजान जोशी, हरीश चंद्र पांडेय, हरीश कुमार अग्रवाल, संजीव कुमार, दीपक गर्ग, भुवन पांडेय, रोहित नेगी, चंद्रशेखर गुरुरानी, लक्ष्मी दत्त पांडेय, दीपक साह, कुंदन लाल, सहित व्यापार मंडल पदाधिकारीगण, छावनी परिषद के निवर्तमान सभासद, होटल एसोसिएशन, छात्र संघ सहित राजनीतिक और गैर राजनीतिक संगठनों सहित व्यापारियों और सहभागिता करी।

यह भी पढ़ें 👉  केआरसी सेंटर आफिस में 21जून को आयोजित होगा भूतपूर्व सैनिक मेला, सभी भूतपूर्व सैनिकों से मेले में शिरकत कर अपनी समस्याएं बताने की अपील