रानीखेत में सरदार पटेल की जयंती और इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि मनाई गई, दोनों के योगदान को याद कर किया भावपूर्ण स्मरण

ख़बर शेयर करें -

रानीखेत– भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय इंदिरा गांधी का बलिदान दिवस तथा भारत रत्न लौहपुरुष गृहमंत्री स्वर्गीय सरदार बल्लभ भाई पटेल की जयंती आज यहां गांधी चौक में मनाते हुए दोनों शख्सियतों के चित्र पर माल्यार्पण कर राष्ट्र की एकता, अखंडता और सुरक्षा तथा देश की आंतरिक सुरक्षा में योगदान के लिए शपथ ली गई।

यह भी पढ़ें 👉  भाजपा विधायक डॉ प्रमोद नैनवाल ने रानीखेत नगर में जन मिलन कर भाजपा प्रत्याशी के लिए मांगे वोट

इस अवसर पर सरदार पटेल के आज़ादी के बाद देश के नवनिर्माण में योगदान को याद करते हुए कहा गया कि आजादी के बाद सरदार पटेल ने पूरे राष्ट्र को एकता के सूत्र मे पिरोने मे महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्हें भारत का लौह पुरुष व बिस्मार्क भी कहा जाता है। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की ३९वीं पुण्य तिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए कहा गया कि इंदिरा गांधी दृढ़ संकल्प, पक्के इरादे , साहसपूर्ण निर्णय लेने वाली प्रधानमंत्री रहीं इसीलिए उन्हें आयरन लेडी कहा गया। 1971 में भारत को अभूतपूर्व विजय दिलाने का श्रेय इंदिरा गांधी को दिया जाता है, जिसके परिणाम स्वरूप बांग्लादेश बना।कार्यक्रम में कांग्रेस के साथ-साथ रानीखेत के वरिष्ठ नागरिकों ने भी भागीदारी की।

यह भी पढ़ें 👉  जी डी बिरला मैमोरियल स्कूल रानीखेत में एक बार फिर गूंजा राम का नाम , श्रद्धा व प्रेम से मनाया गया राम नवमी का पर्व और जी॰ डी॰ बिरला जयंती

कार्यक्रम की अध्यक्षता नगर अध्यक्ष उमेश भट्ट ने की।
कार्यक्रम में पी०सी०सी० सदस्य कैलाश पांडेय, ब्लॉक प्रमुख हीरा सिंह रावत, महिला जिलाध्यक्ष गीता पवार, हिमानी देवी, पूर्व जिलाध्यक्ष महेश आर्या, विश्व विजय सिंह माहरा, ज़िला पंचायत प्रतिनिधि हेमंत रौतेला, अनिल वर्मा, मुकेश साह, पूरन चंद्र पांडेय, हरीश मैनाली, भोपाल सिंह आदि लोग उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें 👉  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने रानीखेत नगर में सघन जनसंपर्क कर कांग्रेस प्रत्याशी को जिताने की अपील की

बाइट गीता पवार , महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष