इंटर नेशनल पदक विजेता हीरा दास्पा तथा अभिनव पांगती का हुआ स्वागत,जोहार क्लब मुनस्यारी ने किया नागरिक अभिनंदन

ख़बर शेयर करें -

मुनस्यारी: आस्ट्रेलिया के पार्थ में आयोजित विश्व स्तरीय ट्रांसप्लांट एथलेटिक्स भाला फेंक/ बैडमिंटन में पदक विजेता हीरा सिंह दास्पा तथा अभिनव पांगती का आज हिमनगरी में जोरदार स्वागत किया गया। फूलमालाओं से लाद कर दोनों विजेताओं का स्वागत एवं अभिनन्दन यात्रा के साथ नागरिक अभिनंदन किया गया। अपनी जन्मभूमि में दोनों को एक साथ यहां पाकर यहां का जनमानस गदगद दिखाई दिया।
जोहार क्लब मुनस्यारी द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में आस्ट्रेलिया में इंटर नेशनल पदक विजेताओं का पदक लेकर पहली बार अपनी मातृभूमि पहुंचने पर भारी संख्या में जमा होकर स्थानीय लोगों ने अभिनंदन किया।
अपनी किडनी गंवाने के बाद ग्राम पंचायत कवाधार निवासी हीरा सिंह दासपा ने अपनी बहिन सुश्री आशा तथा ग्राम पंचायत दरकोट हाल डीडीहाट निवासी अभिनव पांगती ने अपनी बहिन सुश्री दीक्षा धर्मसत्तू द्वारा दान दी गई किड़नी से जीवन की दूसरी पारी शुरू की। दोनो ने हौंसला बनाते हुए अपने मन पसन्द खेलों का अभ्यास नहीं छोड़ा।
वर्ष 2023 में हीरा सिंह दास्पा तथा अभिनव पांगती ने आस्ट्रेलिया के पार्थ में आयोजित विश्व स्तरीय ट्रांसप्लांट गेम्स में भाग लिया।
अभिनव पांगती को बैडमिंटन में रजत पदक तथा भाला फेंक में कांस्य तथा हीरा सिंह दास्पा को भाला फेंक में स्वर्ण पदक विजेता का खिताब मिला।
पदक विजेता बनकर पहली बार अपनी मातृभूमि एवं पितृभूमि पहुंचे अभिनव पांगती तथा हीरा सिंह दास्पा का हिमनगरी में नागरिक अभिनंदन किया गया। जोहार क्लब मुनस्यारी के पदाधिकारियों ने विकास खंड सभागार में आयोजित समारोह में जोहारी टोपी तथा शाल ओढ़ाकर दोनों का स्वागत किया। दोनों को प्रतीक चिन्ह देकर उनका मान सम्मान किया।
ग्राम पंचायत दरकोट की ग्राम प्रधान सावित्री पांगती तथा महिला मंगल दल की अध्यक्ष जानकी धर्मसक्तू ने हीरा तथा अभिनव को अपने गांव की तरफ़ से शाल ओढ़ाकर तथा फूल माला पहनाकर सम्मानित किया।
ट्रांसप्लांट गेम्स के इंटर नेशनल पदक विजेता हीरा सिंह दास्पा ने कहा कि एक किड़नी फैल हो जाने के बाद वे निराश जरुर हुए, लेकिन उन्होंने कभी भी हौंसला नहीं खोया। उन्होंने कहा कि लगन एवं मेहनत से हम हर मुकाम को छू सकते है।
एक नहीं दो पदक विजेता अभिनव पांगती ने कहा कि एक जन्म उन्हें उनकी माता ने तथा दूसरा जन्म बहिन ने किडनी ट्रांसप्लांट करके दिया। उन्होंने कहा कि वे देश के लिए खेल रहे है। उन्होंने कहा कि 2025 में होने वाली विश्व स्तरीय ट्रांसप्लांट गेम्स की वे दोनों आज से ही तैयारी कर रहे है।
जिला पंचायत सदस्य जगत मर्तोलिया ने कहा कि हमारी नयी पीढ़ी इन सफ़ल पदक विजेता युवाओं से प्रेरणा लेकर अपने जीवन क्षेत्र में सपने देखकर उसे अनुशासित मेहनत से सपनों को सच करके दिखाएंगे।
विकास खंड के सभागार में आयोजित अभिनंदन समारोह में राजकीय बालिका इंटर कालेज नमजला, राजकीय इंटर कालेज मुनस्यारी, विवेकानंद विद्या मंदिर इंटर कालेज मुनस्यारी के विद्यार्थियों ने दोनों पदक विजेताओं से सफलता तथा अपने भीतर चल रहे ज्वलंत समस्याओं का के निदान से जुड़े दर्जनों जिज्ञासाओं को सवाल पूछकर शांत किया। जोहार क्लब के मैदान से लेकर सभागार तक वाद्ययंत्र को बजाते हुए स्वागत जुलूस निकाला गया।
समारोह का संचालन जोहार क्लब के अध्यक्ष केदार सिंह मर्तोलिया ने किया।
इस अवसर पर हीरा के पिता राजेंद्र सिंह दास्पा, अभिनव के पिता सेवानिवृत्त खंड शिक्षा अधिकारी दुष्यंत सिंह पांगती, हीरा की बहिन आशा पांगती, समाजिक कार्यकर्ती तारा पांगती, व्यापार संघ अध्यक्ष राजेंद्र सिंह पांगती, राइका के प्रधानाचार्य अनिल राजपूत, राबाइका नमजला की प्रधानाचार्या सुश्री नीमा आर्या, विवेकानंद विद्या मंदिर इंटर कालेज के प्रधानाचार्य नवीन शर्मा, जोहार क्लब के गोर्कण सिंह मर्तोलिया, गौरव पांगती, रवि बृजवाल, जीतू ज्येष्ठा, कवीन्द्र बृजवाल, महेश रावत, दीपू बृजवाल आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  राजकीय इंटर कॉलेज सिलोर महादेव में विद्यालय प्रबंधन समिति के‌ राजेन्द्र सिंह नेगी और पीटीए के दिनेश चंद्र आर्य अध्यक्ष निर्वाचित