शाम होते ही रानीखेत चिकित्सालय परिसर में होने लगा खेल, जानें वजह

शाम होते ही रानीखेत चिकित्सालय परिसर में होने लगा खेल, जानें वजह
ख़बर शेयर करें -

रानीखेत:- रोज -रोज की भाग दौड़ और काम के बोझ तले दबी जिंदगी में तनाव इस कदर बढ़ जाता है कि वह हमारे दिमाग के साथ साथ शरीर को भी नुकसान पहुंचाने लगता है। इसलिए बिगड़ती सेहत को रोकने के लिए जरूरी है दिमाग को मनोरंजक खेलों की दिशा में लगाकर शांत रखना।इस बात को समय रहते समझा है रानीखेत जी .एस .माहरा राजकीय चिकित्सालय के चिकित्सकों और कर्मचारियों ने। पिछले डेढ़ साल से कोरोना संक्रमण के दौर में खुद को एक योद्धा की भांति पहली कतार में रखकर दिन रात ड्यूटी दे रहे चिकित्सालय स्टाफ ने कोरोना की दूसरी लहर के स्थिर होते ही खुद को शाम पांच बजे से खेल प्रतियोगिताओं से जोड़ लिया है। चिकित्सालय परिसर में शाम के वक्त आयोजित ये खेल प्रतियोगिताएं निस्संदेह चिकित्सकों के लम्बे तनाव को कम करने में प्रभावी साबित हो रही हैं।

यह भी पढ़ें 👉  जी डी बिरला मैमोरियल स्कूल में धूमधाम से मना दशहरा, भव्य कार्यक्रम के बीच रावण का पुतला जलाया गया

गौरतलब है कि पूरे देश की भांति पिछले डेढ़ साल से रानीखेत चिकित्सालय के चिकित्साअधिकारी व कर्मचारी कोरोना मरीजों की अहर्निश सेवाओं में व्यस्त रहे।इस दौरान कई चिकित्सक व स्टाफ कोरोना संक्रमण की चपेट में आए और स्वस्थ होकर पुनः सेवाओं मे जुट गए।चिकित्सकों ने कई पॉजिटिव मरीजों का इलाज किया व जरुरत पड़ने पर पॉजिटिव मरीजों को कर्मचारियों द्वारा पी पी ई किट पहनकर हल्द्वानी व बेस हॉस्पिटल अल्मोड़ा ट्रांसफर भी किया गया।डेढ़ साल का वक्त चिकित्साकर्मियो के लिए बेहद तनावपूर्ण रहा।अब जबकि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर थोड़ा शिथिल पडी़ है चिकित्सकों ने हर शाम पांच बजे से चिकित्सालय परिसर में खेल का समय निर्धारित किया है। मकसद सिर्फ यही है कि लम्बे समय से तनाव में जी रहे चिकित्साकर्मियों का खेल के जरिए मनोबल बना रहे और तनाव से मुक्ति मिल सके।

यह भी पढ़ें 👉  जी डी बिरला मैमोरियल स्कूल में धूमधाम से मना दशहरा, भव्य कार्यक्रम के बीच रावण का पुतला जलाया गया

चिकित्साकर्मियों ने अपने तनाव मुक्ति अभियान की शुरूआत इंडोर खेलों से की है ।इस क्रम में कैरम प्रतियोगिता का आयोजन किया गया ।”जीएस माहरा हॉास्पिटल रानीखेत कैरम मानिया टूर्नामेंट “नाम से सम्पन्न प्रतियोगिता में सभी चिकित्सकों, कर्मचारियों व उनके बच्चों ने बढ़- चढ़कर भाग लिया। प्रतियोगिति अंतर्गत मैन सिंगल ,डबल्स व वूमन सिंगल प्रतियोगिता कराई गई ।प्रतियोगिता के दौरान काफी उत्साहपूर्ण माहौल देखा गया और सभी लोग तनावमुक्त दिखे। प्रतियोगिता का आयोजन डॉ विपिन चंद्रा व कॉर्डिनेटर डॉ दीप प्रकाश पार्की ने कराया।

यह भी पढ़ें 👉  जी डी बिरला मैमोरियल स्कूल में धूमधाम से मना दशहरा, भव्य कार्यक्रम के बीच रावण का पुतला जलाया गया

प्रतियोगिता के परिणाम निम्नवत रहे-मेन्स सिंगल विजेता श्रीचन्द्रप्रकाश उपविजेता डॉ दीप प्रकाश पार्की डबल्स : विजेता श्री चन्द्रप्रकाश व श्री अभिषेक कांडपाल उपविजेता – डॉ संतोष पार्की व डॉ रिचा नेगी*
वुमन सिंगल विजेता – डॉ संतोष पार्की उपविजेता – डॉ रिचा नेगी बच्चों में स्वप्निल पाण्डेय व *आरव पार्की ने प्रतिभाग किया और उनको सांत्वना पुरस्कार दिया गया। डाॅ.दीप प्रकाश पार्की ने बताया कि भविष्य में लूडो व चैस प्रतियोगिता कराना तय हुआ है ताकि खेल से तनाव मुक्त रहकर सभी लोग पूरे मनोबल के साथ अपनी सेवाओं से जुड़े रहे ।

Ad
Ad

2 thoughts on “शाम होते ही रानीखेत चिकित्सालय परिसर में होने लगा खेल, जानें वजह

Leave a Reply

Your email address will not be published.