सात सितंबर को जनप्रतिनिधियों की लगेगी हैल्थ वर्कशाॅप,सीएम सहित सभी विधायक रहेंगे मौजूद

CREATOR: gd-jpeg v1.0 (using IJG JPEG v62), quality = 100

ख़बर शेयर करें -

केंद्र और राज्य सरकार की ओर से संचालित विभिन्न स्वास्थ्य संबंधी योजनाओं की जानकारी देने के लिए 7 सितंबर को जनप्रतिनिधियों की एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। कार्यशाला में कोविड की संभावित तीसरी लहर के रोकथाम और राज्य में दिसंबर माह तक शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन करने के लिए सुझाव भी मांगे जाएंगे। कार्यशाला में सूबे के मुख्यमंत्री बतौर मुख्य अतिथि और विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल के साथ ही नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह बतौर अति विशिष्ठ अतिथि शामिल होंगे।

यह भी पढ़ें 👉  आर्मी पब्लिक स्कूल रानीखेत के विद्यार्थियों ने आजादी की ७५वीं वर्षगांठ पर नुक्कड़ नाटक की प्रस्तुति से आजादी के नायकों का कराया स्मरण

उत्तराखंड के स्वास्थ्य मंत्री डा. धन सिंह रावत ने ये जानकारी बताया कि सरकार सूबे में स्वास्थ्य सुविधओं को मजबूत करने के लिए संकल्पबद्ध है। इसी के तहत सात सितंबर को कार्यशाला आयोजित की जाएगी। देहरादून में स्वास्थ्य विभाग की ओर से जनप्रतिनिधियों के लिए एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा। इसका उद्घाटन मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी करेंगे। इस मौके पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल और नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह भी मौजूद रहेंगे।

यह भी पढ़ें 👉  कांग्रेस की 'भारत जोड़ो तिरंगा यात्रा' देश भक्ति गीतों और स्वतंत्रता सेनानियों की गाथा‌ लेकर‌ पहुंची गांव -गांव

कार्यशाला में प्रदेश के सांसद, विधायक, जिला पंचायतों के अध्यक्ष तथा नगर निगमों के मेयर प्रतिभाग करेंगे। इसमें स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी केंद्र और राज्य सरकार द्वारा विभिन्न जन उपयोगी स्वास्थ्य योजनाओं की जानकारी देंगे। साथ ही कोरोना की संभावित तीसरी लहर की रोकथाम के लिए विशेषज्ञ भी सुझाव देंगे। इसके अलावा राज्य में दिसम्बर 2021 तक शत-प्रतिशत कोविड वेक्सीनेशन लक्ष्य को हासिल करने के लिए जनप्रतिनिधियों के लिए सुझाव भी मांगे जाएंगे।

यह भी पढ़ें 👉  'आजादी का अमृत महोत्सव' के उपलक्ष्य में रानीखेत में ‌‌‌‌‌‌भाजयुमो ने दोपहिया काफिले के साथ निकाली तिरंगा यात्रा

इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग के उच्चाधिकारियों को कार्यशाला आयोजन की तैयारी के लिए निर्देश जारी कर दिए गए हैं। साथ ही राज्य के पांच सांसदों, 71 विधायकों, 13 जिला पंचायत अध्यक्षों के साथ ही सभी नगर निगमों के महापौर को आमंत्रण पत्र भेज दिये गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.