संयुक्त मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंपकर रानीखेत विकास संघर्ष समिति ने नगर‌पालिका में विलय के लिए नोटिफाइड एरिया में कटौती का किया विरोध

ख़बर शेयर करें -


रानीखेत– छावनी परिषद से सिविल एरिया को पृथक कर रानीखेत -चिलियानौला नगर पालिका परिषद में विलय करने की मांग पर पिछले छह महीने से धरना-प्रदर्शन कर रही रानीखेत विकास संघर्ष समिति ने प्रशासन द्वारा तत नागरिकों का अभिमत जानने हेतु बुलाई गई तदविषयक बैठक में नोटिफाइड एरिया कम दिखाएं जाने का विरोध किया है।

यह भी पढ़ें 👉  पानी, बिजली और क्षेत्रीय समस्याओं को लेकर तहसील मुख्यालय भिकियासैण में किया प्रदर्शन

इस संबंध में रानीखेत विकास संघर्ष समिति ने संयुक्त मजिस्ट्रेट को ज्ञापन देकर पू्र्व नोटिफाइड 161.511से एकड़‌ से कम एरिया नामंजूर करते हुए कहा है कि बैठक में जनप्रतिनिधियों को पूर्व नोटिफाइड एरिया 161.511के बरक्स 97एकड़ एरिया का प्रस्ताव दिखाया गया जिसे छावनी से नगर पालिका में विलय किया जाना हैं। समिति ने ज्ञापन में कहा कि नोटिफाइड एरिया को कम किया जाना जनहित में नहीं है। समिति इस प्रस्तावित‌ ड्राफ्ट का प्रबल‌ विरोध करते हुए असहमति व्यक्त करती है। अतैव शासन को आख्या भेजने से पूर्व प्रस्ताव में नागरिकों की मंशा के अनुरूप पूर्व नोटिफाइड एरिया को शामिल करने की कृपा करें।

यह भी पढ़ें 👉  सांसद‌ अजय टम्टा के एनडीए सरकार में राज्यमंत्री बनने पर भाजपाइयों ने मनाया जश्न, मिष्ठान वितरण व आतिशबाजी की