एक व्हाट्स एप संदेश से सात दिन से रोशनी से वंचित गांव में सात घंटे में पहुंची रोशनी,डीएम साब की हो रही है प्रशंसा

ख़बर शेयर करें -

मुनस्यारी, 22 अक्टूबर।
जिला पंचायत सरमोली के समन्वय व्हाट्स एप ग्रुप ने आज फिर कमाल कर दिया। सेरासुराईधार के ग्राम प्रधान संगीता मेहरा ने सुबह सात बजे लिखा कि एक सप्ताह से गांव में लाइट नहीं है। जिलाधिकारी ने संज्ञान लिया तो सात घंटे के बाद गांव में लाइट चमक गयी।
जिला पंचायत सदस्य जगत मर्तोलिया ने अपने क्षेत्र के 25 गांवो में आपसी सहयोग एवं तालमेल के लिए दो साल पहले एक व्हाट्स एप ग्रुप बनाया है। जिसमें पंचायत प्रतिनिधियों के अलावा तहसील तथा जिला स्तर के अधिकारियों को भी रखा गया है। कोविड 19 तथा इस साल की आपदा में इस ग्रुप ने जिले में प्रबधंन के मामले में अपनी छवि बनाई। तत्कालीन जिलाधिकारी आनंद स्वरुप ने एक बार नहीं बहुत बार इस ग्रुप की तारीफ़ की। इतना ही नहीं अधिकारियों को इस तरह के अभिनव प्रयोग करने की सलाह भी दी थी।
सेरासुराईधार की महिला ग्राम प्रधान ने आज सुबह सात बजे ग्रुप में यह सूचना दी कि कि गांव में एक हफ्ते से लाइट नहीं है। कोई फरियाद सुन नहीं रहा है।
पिथौरागढ़ के जिलाधिकारी आशीष चौहान ने सात बजकर पांच मिनट पर इस सूचना का संज्ञान ले लिया। उसके बाद स्थानीय प्रशासन तथा बिजली विभाग की नींद उड़ गई। उपजिलाधिकारी तथा तहसीलदार भी इस गांव की खैर खबर लेने लगे। चार बजे क्या थे, गांव में बिजली के बल्व जल उठे।
ग्राम प्रधान सहित गांव वाले झूमने लगे। जिपं सदस्य मर्तोलिया ने कहा कि सुबह सात बजे जिले का जिलाधिकारी एक गांव की समस्या को सुन लेता है, यह एक मिसाल है। मर्तोलिया ने कहा कि हम डीएम का दिल से आभार जताते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.